प्रेमी का गौना टालने के लिए शादीशुदा प्रेमिका ने की बच्चे की हत्या

जोधपुर के पीपाड़ शहर के साथीन गांव में शादीशुदा महिला ने प्रेमी का गौना रुकवाने के लिए प्रेमी के मासूम भानजे की हत्या कर दी और शव कट्टे में बांधकर मंदिर के पास फेंक दिया था। संदेह होने पर पूछताछ में वारदात स्वीकारने पर पुलिस ने शुक्रवार को उसे गिरफ्तार किया है।

अवैध संबंधों के चलते वारदात

जानकारी के मुताबिक आरोपी महिला के मृतक लड़के के मामा के साथ अवैध संबंध थे। महिला के प्रेमी का गौना होने वाला था, शादीशुदा प्रेमिका नहीं चाहती थी कि प्रेमी की पत्नी अपने मायके से ससुराल आए। इसे टालने के लिए प्रेमिका ने अपने प्रेमी के भांजे की हत्या कर दी। पीपाड़ थाना पुलिस को 3 फरवरी को साथीन गांव में समदड़ी नाडी की पाल के ऊपर एक कट्टे में बच्चे का शव पड़ा मिला था जिसके पैर बाहर निकलने हुए दिखाई दे रहे थे। शव की शिनाख्त के बाद मृत बच्चे के मामा दिनेश देवासी द्वारा पुलिस थाना पीपाड़ में मामला दर्ज किया गया।

नाली में मिला बच्चे का शव 

लड़के के मामा दिनेश देवासी ने बताया कि उसका भांजा गुरुवार शाम 4 बजे घर से बाहर खेलने निकला था। जब वो समय पर घर नहीं लौटा तो उसे आसापास काफी तलाशा गया। जब कहीं कोई सुराग नहीं मिला तो नाली एवं तालाबों में तलाश शुरू हुई।. फिर देर रात नर्सिंग मंदिर के पीछे नाली में बच्चे का शव मिला। शव को प्लास्टिक के कट्टे में डाला गया था। मृतक बच्चे के शरीर पर कई जगह घाव के निशान थे, जो किसी धारदार हथियार से वार करने से हुए थे। तुरंत ही इसकी सूचना पुलिस को दी गई। फिर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा और मामले की जांच शुरू की।

पुलिस ने आठ घंटे में पकड़ा

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अनिल कयाल के अनुसार साथीन गांव में मंदिर के पीछे गुरुवार रात नौ बजे प्लास्टिक कट्टे में बंधा मासूम का शव मिला। जिसकी पहचान नरेश (12) पुत्र कल्लाराम देवासी के रूप में हुई। वह साथीन में अपने ननिहाल रह रहा था। मामा दिनेश की तरफ से हत्या का मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने आठ घंटे के भीतर साथीन निवासी संतोष (30) पत्नी राजूराम देवासी को गिरफ्तार किया। उब उससे हत्या में प्रयुक्त कूंट व कपड़ा बरामद करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.