black fungus

पेट को black fungus से बचाएगा तुलसी-नीम का रस, ऐसे लें सेवन

पेट को black fungus से बचाएगा तुलसी-नीम का रस, ऐसे लें सेवन

स्वामी रामदेव के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण काला फंगस शरीर के अंगों को अपना शिकार बना रहा है। इसलिए जरूरी है कि सबसे पहले इम्युनिटी को मजबूत किया जाए।

देश में ब्लैक फंगस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ज्यादातर राज्यों में इसके कई मामले हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, काले फंगस से पीड़ित 79 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जो मधुमेह से पीड़ित हैं। इसलिए जरूरी है कि वह अपना खास ख्याल रखें। आंख, दिमाग, लंगड़े के बाद पेट पर काला फंगस हमला कर रहा है। जिसका आंत पर अधिक प्रभाव पड़ता है। जिससे बुखार, खून की उल्टी आदि जैसी समस्याएं देखने को मिल रही हैं।

ये भी देखे :- Tasmanian Devil का जन्म 3000 साल बाद ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में हुआ

स्वामी रामदेव के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण काला फंगस शरीर के अंगों को अपना शिकार बना रहा है। इसलिए जरूरी है कि सबसे पहले इम्युनिटी को मजबूत किया जाए। इसके लिए योगासन, प्राणायाम के साथ-साथ आयुर्वेदिक उपचार भी अपनाए जा सकते हैं। इनका भी आपको धीरे-धीरे लाभ अवश्य मिलेगा।

अपने आप को काले फंगस से बचाने के लिए आप कुछ आयुर्वेदिक औषधियों का जूस पी सकते हैं। इससे इम्युनिटी मजबूत होगी और ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर कंट्रोल बना रहेगा। साथ ही लंग्स, किडनी, हार्ट भी स्वस्थ रहेगा।

आयुर्वेदिक जूस कैसे बनाये
सामग्री

१ हरा या सूखा आंवला
2 चम्मच एलोवेरा का गूदा
थोड़ा गिलोय का तना
6-7 नीम के पत्ते
4-5 तुलसी के पत्ते

ये भी देखे :- नई गाइडलाइन: सरकार के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचा WhatsApp

आयुर्वेदिक जूस कैसे बनाये

इन सभी चीजों को ग्राइंडर में डालकर थोड़ा सा पानी डालकर अच्छी तरह पीस लें। आपका जूस तैयार है। इसे छानकर सुबह खाली पेट पिएं।

शरीर के लिए कैसे फायदेमंद होगा यह आयुर्वेदिक जूस

ये भी देखे:- Business : चायपत्ती से बना धंधा! सिर्फ 5000 रुपये लगाकर हर महीने कमाएं 25000<

करौंदा

आंवला अपने एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के अलावा विटामिन सी, विटामिन एबी, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर से भरपूर होता है। जो इम्युनिटी बढ़ाने के साथ-साथ लाइफस्टाइल से जुड़ी कई बीमारियों से बचाता है।

यह भी देखे:- क्या बंद हो जाएगा आपका Twitter, Facebook, सरकार का डेडलाइन आज खत्म हो रही है?

गिलोय

गिलोय में गिलोइन और टिनोस्पोरिन, पाल्मेरिन और टिनोस्पोरिक एसिड नामक ग्लूकोसाइड होता है। इसके अलावा इसमें कॉपर, आयरन, फॉस्फोरस, जिंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम के साथ-साथ एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-कैंसर आदि तत्व पाए जाते हैं।

तुलसी

तुलसी के पत्तों में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल कैविटी के साथ-साथ पोटेशियम, आयरन, क्लोरोफिल मैग्नीशियम, कैरोटीन और विटामिन-सी का उच्च स्तर होता है।

यह भी देखे:- क्या बंद हो जाएगा आपका Twitter, Facebook, सरकार का डेडलाइन आज खत्म हो रही है?

नीम

नीम का अर्क मधुमेह को नियंत्रित करने और वायरस से लड़ने के लिए जाना जाता है। कुछ रोगों से छुटकारा पाने के लिए नीम के तने, जड़, छाल और कच्चे फलों का उपयोग किया जाता है। नीम में प्राकृतिक एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं।

ये भी देखे:- Rajasthan: पान-मसाले, बीड़ी, सिगरेट और गुटखा होगा महंगा, गहलोत सरकार लगाएगी नई फीस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *