Sunday, December 3, 2023
Homeदेशबिजनेस (business) करने वालों के लिए 4 और 6 अंकों का यह...

बिजनेस (business) करने वालों के लिए 4 और 6 अंकों का यह कोड आवश्यक है, अगर गलती की गई तो भारी जुर्माना लगाया जाएगा।

बिजनेस (business) करने वालों के लिए 4 और 6 अंकों का यह कोड आवश्यक है, अगर गलती की गई तो भारी जुर्माना लगाया जाएगा।

जीएसटी: 1 अप्रैल, 2021 से, माल और सेवा (जीएसटी) चालान पर 4 अंकों का एचएसएन कोड (माल और सेवा) प्रदान करना अनिवार्य हो गया है। यदि आप व्यवसाय करते हैं, तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है। 1 अप्रैल, 2021 से प्रभावी होने के साथ, माल और सेवा (जीएसटी) चालान पर 4 और 6 अंकों के एचएसएन कोड देना अनिवार्य हो गया है। ऐसा करने में विफलता के परिणामस्वरूप जुर्माना हो सकता है। business एक वित्तीय वर्ष में व्यापार का कारोबार 5 करोड़ तक है, तो आपको 4 अंकों का एचएसएन कोड देना होगा। साथ ही, 5 करोड़ रुपये से अधिक के कारोबार वाले व्यवसायों के लिए 6 अंकों का HSN कोड देना अनिवार्य है। एचएसएन कोड में गलती होने पर 50 हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है।

ये भी देखे :- Google का नया फीचर भारत में आया, ड्राइविंग करते समय कॉल और मैसेज करना आसान होगा

वित्त मंत्रालय के ट्वीट के मुताबिक, बिजनेस (business) टू बिजनेस (बी 2 बी) में एचएसएन कोड 5 करोड़ तक के सालाना कारोबार वाले कारोबारियों के लिए अनिवार्य होगा, जबकि यह बिजनेस-टू-कंज्यूमर (बी 2 सी) में वैकल्पिक होगा।

5 करोड़ रुपये सालाना से ऊपर के व्यवसायियों के लिए सभी प्रकार के व्यवसायों के लिए यह अनिवार्य है। इनके लिए, 6 अंकों का HSN कोड अनिवार्य है। B2B और B2C वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति पर सभी कर चालानों के लिए 6-अंकीय HSN कोड अनिवार्य है।

ये भी देखे:- सड़क किनारे (Roadside) पत्थर पर बनी पीली-नीली-हरी और काली पट्टियों का क्या मतलब है? सब कुछ जानिए

HSN कोड क्या है?

सभी उत्पादों को एचएसएन (हार्मोनाइज्ड सिस्टम ऑफ नोमेनक्लेचर) कोड में वर्गीकृत किया गया है। यह वैश्विक स्तर पर वस्तुओं के व्यवस्थित वर्गीकरण में मदद करता है। HSN कोड कस्टम टैरिफ अधिनियम से बाहर आता है और माल के वर्गीकरण के अनुसार निर्धारित किया जाता है। माल की वर्गीकरण से ही कर की दरें निर्धारित की जाती हैं।

यह नियम 1 अप्रैल से लागू हुआ

1 अप्रैल से, व्यापारियों को सभी टैक्स चालान और जीएसटीआर -1 के फाइलिंग के दौरान एचएसएन कोड के बारे में जानकारी देना अनिवार्य हो गया है।

HSN कोड / सेवा लेखा कोड तक पहुँच के लिए लिंक-
माल

सेवा- https://www.cibc.gov.in/resources//htdocs-cbec/gst/11-Rate_Notification-CGST-16.10.2020.pdf

सेवा- https://www.cibc.gov.in/resources//htdocs-cbec/gst/12-Exemption_CGST-16.10.2020.pdf

6 अंकीय सेवा वर्गीकरण कोड के लिंक के लिए-
https://www.cibc.gov.in/resources//htdocs-cbec/gst/Scheme%20of%20Classification%20of%20Services%20-%20amended.pdf

ये भी पढ़े:- अगर आपके पास भी है Amazon ऐप तो आप जीत सकते हैं 15,000 रुपये! जानें घर बैठे कैसे आपको फायदा होगा

 

 

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments