Google

1 जून से फ्री नहीं होगा Google का ये एप, आपको बैकअप लेना होगा?

1 जून से फ्री नहीं होगा Google का ये एप, आपको बैकअप लेना होगा?

टेक डेस्क- आप में से कई लोग गूगल फोटोज फीचर का इस्तेमाल कर रहे होंगे। 1 जून से गूगल फोटोज का इस्तेमाल करना महंगा हो जाएगा। ऐसी खबरें आप सुनते और पढ़ते होंगे। लेकिन ये पूरी तरह सही नहीं है. आइए बताते हैं।

Google फ़ोटो Google की एक सेवा है जिसे आप एक ऐप के रूप में उपयोग करते हैं। दरअसल इस सर्विस में जीमेल यूजर्स को कुछ क्लाउड स्पेस मिलता है जहां वे फोटो या वीडियो स्टोर कर सकते हैं। यानी आप बैकअप लेकर फोटोज को गूगल के स्टोरेज में सेव कर सकते हैं।

अब तक, Google फ़ोटो उच्च गुणवत्ता वाले फ़ोटो और वीडियो के लिए असीमित संग्रहण प्रदान करता है। यानी आप गूगल के क्लाउड पर जितना चाहें स्टोर कर सकते हैं। हालांकि मूल गुणवत्ता में अभी भी बैकअप के लिए पैसे खर्च होते हैं और केवल एक सीमित स्थान उपलब्ध है।

ये भी देखे :- कैसे काम करेगी नई कोरोना दवा 2-DG? जानिए कहां से खरीदें

कंपनी 1 जून से अनलिमिटेड फ्री स्पेस का सिस्टम खत्म कर रही है। अब यूजर्स को गूगल फोटोज पर सिर्फ 15GB स्पेस मिलेगा। इसमें ही आप चाहे फोटोज को स्टोर करना चाहते हैं या वीडियो को। अगर आप 15GB से ज्यादा स्पेस चाहते हैं, तो आपको Google का क्लाउड स्टोरेज खरीदना होगा। गौर करने वाली बात है कि इस 15GB में सब कुछ होगा। यानी आपके जीमेल अकाउंट के ईमेल से लेकर गूगल फोटोज के बैकअप तक भी।

अगर आपका काम 15GB में नहीं चल रहा है तो आपको Google One प्लान के तहत Google से स्टोरेज खरीदनी होगी. उदाहरण के तौर पर अगर आप 100GB की गूगल क्लाउड स्टोरेज खरीदते हैं तो आपको एक साल के लिए 1,300 रुपये देने होंगे। इसी तरह अगर आप 200GB स्टोरेज खरीदते हैं तो आपको सालाना 2,100 रुपये चुकाने होंगे। अगर आप 2TB स्टोरेज खरीदते हैं तो इसके लिए Google को हर साल 6,500 रुपये देने होंगे।

1 जून से अगर आप अन्य विकल्पों की ओर रुख करते हैं तो यहां ड्रॉप बॉक्स और एप्पल आईक्लाउड जैसे विकल्प उपलब्ध हैं। हालांकि इनकी तुलना करने पर गूगल का क्लाउड स्पेस इनके साथ थोड़ा किफायती साबित हो सकता है। आपको बता दें कि 1 जून से पहले आपने जितने भी फोटो या वीडियो का बैकअप गूगल फोटोज पर लिया है, और अगर वे 15GB से ज्यादा हैं तो वे वही रहेंगे। यानी अगर आप सोच रहे हैं कि 1 जून से पहले आपको अपनी फोटो गूगल से ट्रांसफर करनी होगी तो ऐसा नहीं है।

ये भी देखे:- WhatsApp को टक्कर देने के लिए Google ने चैट ऐप को किया रोलआउट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *