Friday, February 23, 2024
a

Homeलाइफस्टाइलअब 'आयुष्मान कार्ड' (Ayushman cards) होगा मुफ्त, कहां और कैसे पाएं 5...

अब ‘आयुष्मान कार्ड’ (Ayushman cards) होगा मुफ्त, कहां और कैसे पाएं 5 लाख का बीमा

  • अब ‘आयुष्मान कार्ड’ (Ayushman cards) होगा मुफ्त, कहां और कैसे पाएं 5 लाख का बीमा
  • पहले आयुष्मान कार्ड बनाने में 30 रुपये लगते थे और कागज बन जाता था, अब पीवीसी कार्ड मिलेगा।

Ayushman Bharat Yojana: आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) के लाभार्थियों के लिए सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। अब आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी अपने ‘आयुष्मान कार्ड ’ (Ayushman cards) मुफ्त में ले सकते हैं, अर्थात अब इसके लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा। पहले इस कार्ड के लिए 30 रुपये लिए जाते थे।

आयुष्मान कार्ड कहां से लाएं

लाइव मिंट की एक रिपोर्ट के अनुसार, केवल इस कार्ड के माध्यम से लाभार्थी अपना इलाज नि: शुल्क करवा सकते हैं। लाभार्थियों को देश भर के कॉमन सर्विस सेंटर (CSCs) में आयुष्मान भारत कार्ड मिलता है। हालांकि, इस कार्ड को डुप्लिकेट करने के लिए, आपको 15 रुपये का भुगतान करना होगा।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) ने लाभार्थियों को मुफ्त कार्ड देने का फैसला किया ताकि इस योजना के तहत सेवा वितरण की प्रक्रिया को सुव्यवस्थित और सुगम बनाया जा सके।

सरकार ने कहा कि आयुष्मान कार्ड (Ayushman cards) पीएम-जेएवाई के किसी भी अस्पताल में पाया जा सकता है। अब इसे मुफ्त में जारी किया जाएगा। यह एक तरह का पीवीसी कार्ड है जिसे पेपर कार्ड पर लाया जा रहा है। इस कार्ड को कई सालों तक आसानी से रखा जा सकता है।

ये भी देखे:- आम आदमी को बड़ा झटका, आज फिर बढ़े गैस सिलेंडर (Gas Cylinder) के दाम, 3 महीने में 200 रुपए तक, जानिए नई दरें

आयुष्मान भारत योजना क्या है?

आयुष्मान भारत को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY) या राष्ट्र स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (National Health Protection Scheme) या मोदीकेयर के नाम से भी जाना जाता है। केंद्र सरकार इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को सालाना 10 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा प्रदान कर रही है।

इलाज के लिए आयुष्मान कार्ड जरूरी है

इस योजना के तहत, देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को 1300 से अधिक बीमारियों का मुफ्त इलाज किया जा रहा है, जिसमें प्रति परिवार 5 लाख रुपये तक का कैंसर और बीमा कवर शामिल है। अगर आपका नाम इस योजना के तहत आता है और आप इसका लाभ लेना चाहते हैं, तो आपके पास ‘आयुष्मान कार्ड’ होना चाहिए। इस कार्ड को आयुष्मान भारत योजना गोल्डन कार्ड के नाम से भी जाना जाता है।

ये भी देखे:- अब मोटेरा नहीं, Narendra Modi स्टेडियम’ को दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट मैदान का नाम दिया गया

आयुष्मान कार्ड बनाना आसान

यदि आपका नाम आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) में है और आप गोल्डन कार्ड प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको इस योजना में शामिल अस्पताल या सार्वजनिक सेवा केंद्र से संपर्क करना चाहिए। ग्रामीण क्षेत्रों में कार्ड बनाने के लिए लोक सेवा केंद्र बनाए गए हैं, जहाँ आप इस कार्ड को बनवा सकते हैं। इसे बनाने के लिए, आप 30 रुपये का भुगतान करते थे, लेकिन अब यह मुफ्त होगा और आपको राशन कार्ड, आधार कार्ड और मोबाइल नंबर देना होगा।

आयुष्मान भारत (Ayushman Bharat Yojana) में एक नया प्रावधान किया गया है। नया नियम यह है कि योजना से जुड़े परिवार में शादी करने वाली नवविवाहित बहू को अन्य स्वास्थ्य सेवाएं लेने के लिए किसी कार्ड या दस्तावेज की आवश्यकता नहीं होगी। ऐसी महिलाएं अपने पति का आधार कार्ड दिखाकर सभी सुविधाओं का लाभ उठा सकेंगी। बता दें कि पहले ऐसी महिलाओं को विवाह प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती थी।

ये भी देखे :- जहां से आप Gmail भेज रहे हैं, वहां आईपी एड्रेस से लेकर लोकेशन तक जानें

आयुष्मान भारत में अपना नाम देखें

सबसे पहले इस लिंक https://mera.pmjay.gov.in/search/login पर क्लिक करें। इसके बाद अपना मोबाइल नंबर डालें। फिर कैप्चा जोड़ें। फिर ओटीपी जनरेट करें। फिर ओटीपी नंबर डालें। फिर राज्य का चयन करें। उसके नाम या जाति की श्रेणी के आधार पर खोजें। इसके बाद अपना विवरण दर्ज करें और खोजें।

आयुष्मान भारत हेल्पलाइन नंबर

आप इन नंबरों पर पता कर सकते हैं कि आप आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) के लाभार्थी हैं या नहीं। हेल्पलाइन 14555 है। इस पर मरीज आयुष्मान भारत योजना के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना की एक और हेल्पलाइन नंबर 1800 111 565 भी है। यह संख्या 24 घंटे चालू होगी।

ये भी देखे :- QR code के बिना भी, व्हाट्सएप वेब पर पहुँचा जा सकता है, बस इन सरल युक्तियों का पालन करें

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments