Wednesday, June 12, 2024
a

Homeराज्य शहरNEWS : नेशनल हाईवे एनएच 130सी सड़क का हालत खस्ता,

NEWS : नेशनल हाईवे एनएच 130सी सड़क का हालत खस्ता,

  • नेशनल हाईवे एनएच 130सी सड़क का हालत खस्ता,
  • कांग्रेसी नेता ने कहा केंद्र सरकार कर रही हैं क्षेत्र की जनता के साथ छलावा

NEWS DESK :- केंद्र सरकार के फंड के अभाव में नेशनल हाइवे का काम अधर में लटका हुआ है। खस्ता हाल सड़क एनएच 130सी दुर्घटना को न्यौता दें रही हैं। स्थिति यह है कि एनएच 130 सी मार्ग के गड्ढों पर खेतों की तरह पानी ठहर रहा है। केंद्र सरकार ने 1200 करोड़ रूपये का अनुमानित बजट का ऐलान किया था, लेकिन अब तक नही दिए रूपये।

इसपर कांग्रेस नेता विनोद तिवारी ने कहा कि भाजपा विधायक, सांसद देने वाली बिन्द्रानवागढ़ को छला जा रहा। नेशनल हाइवे सड़क 130सी पर बड़े-बड़े गड्ढे बन चुके हैं। बड़े वाहनों के साथ-साथ कार व दूपहिया सवार दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। खुटगाँव ओड़िसा सीमा से लेकर गोहरापदर तक हर आधे किमी में सड़कों पर गढ्ढे देखे जा सकते है।

ये भी देखें:- Drugs Case : इन सवालों से Deepika Padukone के आंसू निकल आए

गढ्डों की संख्या देखकर यह कह पाना मुस्किल हो जाता है कि सड़क में गढ्ढे है या फिर गढ्डों में सड़क है। देवभोग के समीप झराबहाल के पास निर्मित गढ्ढे में आये दिन दुपहिया सवार, दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। मामले में नेशनल हाईवे विभाग के इंजीनियर एनएच कवर का कहना है कि सड़क निर्माण स्वीकृति की फ़ाइल दिल्ली कार्यालय में अटकी हुई है, स्वीकृति मिलते ही कार्य आरंभ किया जाएगा। फ़िलहाल झरियाबहारा से देवभोग के एनएच मार्ग पर मरम्मत कार्य किया जा रहा है।

प्रदेश में सरकार जाते ही जनता के साथ छलावा किया केंद्र सरकार ने:- देवभोग दौरे पर आए प्रदेश कांग्रेस के संयुक्त महासचिव विनोद तिवारी ने नेशनल हाइवे की दुर्दशा देख, केंद्र सरकार को जम कर कोसा।तिवारी ने कहा कि 2016 में केंद्र ने अभनपुर से देवभोग तक 195 किमी को नेशनल हाइवे 130सी का दर्जा दिया।1200 करोड़ के अनुमानित बजट का भी ऐलान कर वाहवाही लूटने में पीछे नही हटी।

NEWS
फाइल फोटो

ये भी देखे :- BIG NEWS : भारतीय पासपोर्ट धारक 16 देशों में बिना वीजा के प्रवेश कर सकते हैं: सरकार

राज्य सरकार से नेशनल हाइवे अथार्टी ने सड़क को अपने पजेशन में ले लिया,2018 में सर्वे कर जमीन अधिग्रहण व मुवावजा का प्रकरण भी तैयार करवाया गया,2018 में जैसे ही प्रदेश से भाजपा की सत्ता खिसक गई,केंद्र ने सड़क के लिए दिए जाने वाले बजट को भी डायवर्ट कर दिया।

तिवारी ने कहा कि यह वह इलाका है जंहा की जनता भाजपा के विधायक व सांसद चुनते आई है,ऐसे इलाके में विकास के नाम पर क्षेत्र की जनता के साथ छलावा किया गया है। विनोद ने कहा है कि केंद्र अगर सड़क नही बनवा सकती,वापस दे दे राज्य सरकार को। क्योकि अधर में लटकी सड़क अब जानलेवा साबित हो रही है, और आए दिन सड़क हादसे के शिकार क्षेत्रवासी हो रहें हैं। 2018 के बाद से इस खराब सड़क में 30 से ज्यादा लोगो को जान गवानी पड़ चुकी है। और कई राहगीर घायल हो चुके हैं।

ये भी देखें:- Google Map से पता चलेगा कि आपके क्षेत्र में कोरोना के रोगी कहां हैं

सड़क मरम्मत के नाम पर फुके जाते हैं हर साल लाखों रुपए:- विभाग द्वारा सड़क मरम्मत के नाम पर हर वर्ष लाखों रुपए फुके जाते हैं।लाखों की मरम्मत के बाद भी एनएच 130सी के सड़को के गड्ढे जस के तस बने हुए हैं।और विभाग खुद के बचाव को लेकर मरम्मत का हवाला देते थकती नहीं।

ये भी देखे :- SBI ग्राहकों को सचेत करता है, अगर ध्यान नहीं दिया गया तो वे कंगाल हो जाएंगे

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments