Friday, February 23, 2024
a

Homeदेशतीसरी लहर के लिए एकजुट हुए 'Intellectuals' विपक्ष को लिखा खुला पत्र,...

तीसरी लहर के लिए एकजुट हुए ‘Intellectuals’ विपक्ष को लिखा खुला पत्र, कहा- सरकार नहीं मान रही सलाह, दबाव बनाएं

तीसरी लहर के लिए एकजुट हुए ‘Intellectuals’ विपक्ष को लिखा खुला पत्र, कहा- सरकार नहीं मान रही सलाह, दबाव बनाएं

देश में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए देश के बुद्धिजीवियों  (Intellectuals) ने चिंता व्यक्त की है. देश में विपक्षी दलों को 185 से अधिक लोगों ने पत्र लिखकर केंद्र और राज्य सरकारों को इससे निपटने के लिए तैयार करने के लिए अपने प्रभाव का उपयोग करने का आग्रह किया है।

देश में कोरोना की दूसरी लहर भले ही धीमी पड़ रही हो, लेकिन महामारी की तीसरी लहर को लेकर हर कोई आशंकित है. अब इतिहासकार रोमिला थापर और इरफान हबीब और अर्थशास्त्री कौशिक बसु समेत 185 से ज्यादा बुद्धिजीवियों (Intellectuals) ने विपक्षी दलों को खुला पत्र लिखा है. इस पत्र में विपक्षी दलों से अपील की गई है कि वे अपने प्रभाव का इस्तेमाल यह सुनिश्चित करने के लिए करें कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार महामारी की तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयार हैं.

शवों के नदियों में तैरने का जिक्र

पत्र में कहा गया है कि लाखों भारतीय बुनियादी स्वास्थ्य सेवाओं जैसे अस्पताल के बिस्तर, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन, आवश्यक दवाएं, एम्बुलेंस आदि तक पहुंचने के लिए हाथ-पांव मार रहे हैं। पत्र में दूसरी लहर के दौरान सड़कों पर मृतकों और नदियों में तैरते शवों का जिक्र करते हुए, यह कहा गया है कि इन घटनाओं की तस्वीरों ने दुनिया के दिमाग को झकझोर कर रख दिया है. उन्होंने कहा कि यह देखकर खुशी होती है कि महामारी के बीच “ज्यादातर दल लोगों के ‘हित’ में पार्टी की सीमा से परे काम करने को तैयार हैं।”

ये भी देखे:- मुफ्त राशन पाने के लिए घर बैठे बनवाएं Ration Card, जानिए ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया

केंद्र ने तैयार नहीं की टास्क फोर्स

बयान में कहा गया है कि केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करने की पेशकश के बावजूद, भारत सरकार ने न तो सलाह का स्वागत किया है और न ही वास्तव में सभी दलों, राज्य सरकारों, विशेषज्ञों और नागरिक समाज के लोगों से मिलकर एक टास्क फोर्स बनाया है। और इस संकट से निपटें।

हस्ताक्षर करने वालों में जाने-माने लोग शामिल हैं

पत्र पर हस्ताक्षर करने वालों में मैगसेसे पुरस्कार विजेता और कार्यकर्ता विजवाड़ा विल्सन, एमनेस्टी इंटरनेशनल के पूर्व महासचिव सलिल शेट्टी, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव थोराट, यूपीएससी के पूर्व सदस्य पुरुषोत्तम अग्रवाल और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय, सिएना विश्वविद्यालय शामिल हैं। इटली), सो पाउलो विश्वविद्यालय, पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय और प्रिंसटन विश्वविद्यालय।

ये भी देखे:- नेस्ले (Nestle) ही नहीं, आपके पसंदीदा ब्रांड भी ‘अनहेल्दी’ खाने को लेकर विवादों में रहे हैं..जानें विवरण

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments