Google Map

क्या Google Map की होगी छुट्टी? भारत को मिलेगा ये स्वदेशी नेविगेशन ऐप, इसरो ने किया ऐलान

क्या Google Map की होगी छुट्टी? भारत को मिलेगा ये स्वदेशी नेविगेशन ऐप, इसरो ने किया ऐलान

BIG NEWS :- भारत को जल्द ही अपना खुद का नेविगेशन ऐप मिलने वाला है। साथ ही एक मैपिंग पोर्टल और भू-स्थानिक डेटा सेवा उपलब्ध होगी। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने भारत को स्वदेशी नेविगेशन सेवाएं प्रदान करने के लिए स्थान और नेविगेशन प्रौद्योगिकी समाधान प्रदाता MapMyIndia के साथ एक साझेदारी का गठन किया है।

ये भी देखे :- LIC की यह Policy से होती है जिंदगी भर कमाई, इसके अन्य लाभों को जानें

MapmyIndia के सीईओ और कार्यकारी निदेशक रोहन वर्मा ने कहा कि इसरो द्वारा उपग्रह छवि और अवलोकन डेटा उपलब्ध कराया जाएगा। जबकि MapmyIndia डिजिटल सेवा प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि यह भारत के आत्मनिर्भर भारत अभियान में एक मील का पत्थर साबित होगा। ऐसी स्थिति में, उपयोगकर्ता को नेविगेशन सेवाओं, मानचित्रों और भू-स्थानिक सेवाओं के लिए विदेशी संगठनों पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा। रोहन वर्मा ने कहा कि अब आपको गूगल मैप, गूगल अर्थ की जरूरत नहीं होगी।

ये भी देखे :- काम की खबर: दिवाली (Diwali) के बाद भी बैंक लगातार 4 दिनों तक बंद रहेंगे, जाने से पहले इस सूची को देखें

इसरो के अनुसार, अंतरिक्ष विभाग ने मैपमीइंडिया के साथ भागीदारी की है। इसमें नविक, भुवन जैसी स्वदेशी सेवा की मदद ली जाएगी। बता दें कि भारतीय क्षेत्रीय नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (IRNSS) को NavIC (भारतीय तारामंडल के साथ नेविगेशन) कहा जाता है। यह भारत की स्वदेशी नेविगेशन प्रणाली है, जिसे इसरो द्वारा विकसित किया गया है। वही भुवन इसरो द्वारा विकसित और होस्ट किया गया एक केंद्रीय भू-पोर्टल है। इसमें भू-स्थानिक डेटा सेवा और विश्लेषिकी के उपकरण हैं।

क्या होगा खास

  • स्वदेशी नेविगेशन ऐप कई मायनों में Google मानचित्र के लिए अद्वितीय होगा।
  • इसमें भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के आधार पर सीमावर्ती क्षेत्रों को दिखाया जाएगा।
  • इसमें भारत की एकता, अखंडता का विशेष ध्यान रखा जाएगा।
  • इसे वास्तविक उपग्रह चित्र मिलेंगे, जो इसरो द्वारा उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • स्वदेशी नेविगेशन ऐप बिल्कुल मुफ्त होगा।
  • स्वदेशी नेविगेशन ऐप किसी भी विज्ञापन व्यवसाय मॉडल के साथ नहीं आएगा।
  • MapmyIndias का नक्शा भारत के लगभग 7.5 लाख गांवों, 7500 से अधिक शहरों की सड़कों, इमारतों को शामिल करता है। साथ ही पूरे देश में 63 मिलियन किमी। सड़क नेटवर्क का विस्तार है। मैप माय इंडिया लगभग 30 मिलियन स्थानों पर जानकारी प्रदान करता है।
  • ये भी पढ़े :- आप Google Photo का उपयोग Free में नहीं कर पाएंगे, 2021 से नियम बदल जाएंगे

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *