Monday, February 26, 2024
a

Homeदेशमहिला ने सरकार को जमीन नहीं दी, घर हाईवे (highway) के बीच...

महिला ने सरकार को जमीन नहीं दी, घर हाईवे (highway) के बीच में कैद

महिला ने सरकार को जमीन नहीं दी, घर हाईवे (highway) के बीच में कैद

जब हाईवे और पुल बनते हैं तो उसमें लोगों की जमीन जाती है, जिसके लिए सरकार मुआवजा भी देती है। लेकिन चीन के गुआंगझोउ शहर की यह घटना बता रही है कि अगर इस तरह के निर्माण के लिए जमीन देने से मना कर दिया जाए तो क्या होगा। दरअसल चीन में एक हाईवे बनाया जा रहा था। लेकिन एक छोटा सा घर उनकी राह में रोड़ा बन गया। सरकार उस जमीन को खरीदना चाहती थी, लेकिन घर के मालिक ने उसे बेचने से मना कर दिया और काफी देर तक अपने फैसले पर अड़ी रही। इसके बाद हाईवे बनाया गया और महिला के घर को ट्रैफिक से घेर लिया गया।

ये भी  देखे :-  New Dance Style Viral Video: नागिन डांस के बाद ट्रेंड कर रहा है ‘एनकाउंटर डांस’, देखकर कहेंगे- ‘इतना टैलेंट कहां से आता है’

रिपोर्ट्स के मुताबिक महिला का नाम लियांग है. वह 10 साल तक चीनी सरकार के खिलाफ खड़ी रहीं। सरकार उनके घर को खरीदना और गिराना चाहती थी ताकि हाईवे बनाया जा सके। लेकिन जब महिला नहीं मानी, तो डेवलपर्स ने उसके छोटे से घर के चारों ओर एक मोटरवे पुल बनाया। अब इस घर को नेल हाउस के नाम से जाना जाता है क्योंकि महिला ने इसके विध्वंस के लिए सरकार से मुआवजा लेने से इनकार कर दिया था।

हाइजुयोंग ब्रिज नाम के इस हाईवे को साल 2020 में ट्रैफिक के लिए चालू कर दिया गया था। अब इस छोटे से घर में रहने वाली लियांग को अपनी खिड़की से हजारों वाहन गुजरते हुए दिखाई दे रहे हैं। ग्वांगडोंग टीवी स्टेशन के अनुसार, यह एक मंजिला घर 40 वर्ग मीटर (430 वर्ग फीट) फ्लैट है, जो चार लेन ट्रैफिक लिंक के बीच में एक गड्ढे में स्थित है, जिसके कारण घर की कीमत में भी गिरावट आई है!

ये भी देखे :- Tips: गलती से दूसरे खाते में भेजा गया पैसा वापस हो सकता है, जानिए क्या है बैंक (Bank) की प्रक्रिया

‘मेलऑनलाइन’ की रिपोर्ट के मुताबिक महिला ने इसलिए जगह नहीं छोड़ी क्योंकि सरकार उसे एक आदर्श जगह पर संपत्ति नहीं दे पा रही थी। उन्होंने कहा, ‘मैं स्थिति का सामना करने से ज्यादा खुश हूं, यह सोचने से ज्यादा कि लोग मेरे बारे में सोचेंगे। उन्होंने समझाया, ‘आप समझते हैं कि यह माहौल खराब है, लेकिन मुझे लगता है कि यह शांत, मुक्त, सुखद और आरामदायक है। खैर, शायद पुल बनने से पहले भी ऐसा ही था।

ये भी पढ़े:- Bignews- नौकरी करने वालों को अब मिलेगी 7 लाख रुपये की यह सुविधा, अधिसूचना जारी

सरकारी अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने 2010 में हाइजुयोंग ब्रिज के निर्माण के लिए इस भूखंड को हटाने का फैसला किया था। लेकिन उस फ्लैट के साथ पुल बनने में एक दशक लग गया। अधिकारियों के अनुसार, घर के मालिक लियांग को कई फ्लैटों के साथ-साथ नकद मुआवजे की पेशकश की गई थी, लेकिन उसने इस प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया।

ये भी  देखे :- Google पर इन चीजों को भूलकर भी ना खोजना, अन्यथा यह बहुत हानिकारक होगा

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments