Thursday, February 22, 2024
a

Homeराज्य शहरराजस्थानजितनी पढ़ाई, उतना पैसा: निजी स्कूल (School) उतनी ही शुल्क लेंगे, जितना...

जितनी पढ़ाई, उतना पैसा: निजी स्कूल (School) उतनी ही शुल्क लेंगे, जितना कोर्स पूरा कराया

जितनी पढ़ाई, उतना पैसा: निजी स्कूल (School) उतनी ही शुल्क लेंगे, जितना कोर्स पूरा कराया

अब सीबीएसई स्कूल 70% और राजस्थान बोर्ड स्कूल 60% शुल्क ले सकेंगे। राजस्थान के निजी स्कूलों के फोरम और सरकार द्वारा गुरुवार को सहमति देने के बाद यह निर्णय लिया गया। इसके साथ ही मंच के दो सदस्यों ने अनशन समाप्त कर दिया। हालांकि, मंच ने कहा कि जब तक सहमति पत्र और भावना का पालन नहीं किया जाता है, तब तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

इसका मतलब है कि ऑनलाइन कक्षाएं बंद रहेंगी। इससे पहले फोरम का एक प्रतिनिधिमंडल शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा के आवास पर पहुंचा। लंबा संवाद हुआ। आरटीई भुगतान, पहली दिसंबर से 9 वीं -12 वीं तक स्कूल खोलने सहित कई मांगों पर सरकार ने सकारात्मक रुख दिखाया है। इस शुल्क को लेकर मामला सामने आया कि मामला अभी अदालत में लंबित है।

ये भी देखे :- जयपुर के Mall (मॉल) में बेटियां सुरक्षित नहीं, चेंजिंग रूम में खींचा लड़की का अश्लील फोटो

यूडी टैक्स भी माफ किया जाएगा

सरकार नगर निगम द्वारा यूडी टैक्स (शहरी कर) से निजी शिक्षण संस्थानों को छूट देने की सकारात्मक मांग पर भी विचार कर रही है। शिक्षा विभाग इस आशय का एक प्रस्ताव स्थानीय निकाय को भेजेगा जहां से इसकी स्वीकृति जारी की जाएगी।

बिजली का बिल भी घरेलू श्रेणी का है

इसके साथ ही, निजी स्कूलों ने अवकाश की अवधि के दौरान उन्हें निजी श्रेणी में मानते हुए निजी स्कूलों को छूट देने की मांग की है। शिक्षा मंत्री डोटासरा ने इसके लिए सहमति दे दी है लेकिन इस मामले को ऊर्जा विभाग को भी भेजा जाएगा। जहां से स्वीकृति जारी की जाएगी। फिलहाल, सरकार इसके लिए सहमत हो गई है।

ये भी देखे : Rajasthan में स्कूल, कॉलेज और सभी शैक्षणिक संस्थान 30 नवंबर तक बंद रहेंगे

शीघ्र आदेश जारी किए जाएं

आंदोलन की शुरुआत निजी स्कूलों के साथ-साथ निजी स्कूलों के फोरम ने की थी। विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों और निजी स्कूल संगठनों ने मिलकर इस आंदोलन में भाग लिया। PAPA के संयोजक गिरिराज खैरीवाल ने कहा कि राज्य भर के निजी स्कूल पहली बार एक मंच पर आए। उन्होंने कहा कि सरकार को आज पहुंची सहमति पर जल्द ही आदेश जारी करना चाहिए।

कोर्स की फीस ली जा सकती है

निजी स्कूलों के साथ बातचीत सौहार्दपूर्ण थी। बोर्ड से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए बोर्ड के अधिकारियों से बात की गई। फीस से संबंधित मामला अदालत में विचाराधीन है।

-गोविंद डोटासरा, शिक्षा मंत्री

ये भी देखे : पूरे परिवार के लिए PVC आधार कार्ड बनवाएं, मोबाइल से ही होगा काम, जानें पूरी प्रक्रिया

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments