America

अमेरिका (America) से छीना ताज, अब चीन (China) है दुनिया का सबसे अमीर देश!

अमेरिका (America) से छीना ताज, अब चीन (China) है दुनिया का सबसे अमीर देश!

चीन (China) अब सुपर पावर अमेरिका (America) को पछाड़कर दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है। पिछले 20 वर्षों में चीन की संपत्ति में जबरदस्त वृद्धि हुई है। जबकि अमेरिका की दौलत में इतनी बढ़ोतरी नहीं देखी गई है. दरअसल, कंसल्टेंसी फर्म मैकिन्से एंड कंपनी की ताजा रिपोर्ट कहती है कि पिछले दो दशकों में दुनिया की दौलत में 3 गुना इजाफा हुआ है।

चीन अब सुपर पावर अमेरिका को पछाड़कर दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है। पिछले 20 वर्षों में चीन की संपत्ति में जबरदस्त वृद्धि हुई है। जबकि अमेरिका (America) की दौलत में इतनी बढ़ोतरी नहीं देखी गई।

दरअसल, कंसल्टेंसी फर्म मैकिन्से एंड कंपनी की ताजा रिपोर्ट कहती है कि पिछले दो दशकों में दुनिया की दौलत में 3 गुना इजाफा हुआ है। लेकिन इस बढ़ोतरी में सिर्फ चीन की हिस्सेदारी एक तिहाई यानी करीब 33 फीसदी रही है. इस हिसाब से चीन की संपत्ति करीब दो दशकों में 16 गुना बढ़ गई है।

यह भी पढ़े :- AADHAAR और PAN CARD पर नाम सही करना हुआ आसान, जानिए सब कुछ

चीन की संपत्ति में भारी वृद्धि

रिपोर्ट के मुताबिक साल 2000 में दुनिया की कुल संपत्ति करीब 156 ट्रिलियन डॉलर थी, जो 2020 में बढ़कर 514 ट्रिलियन डॉलर हो गई, लेकिन इसका सिर्फ एक तिहाई हिस्सा ही चीन का है. कंसल्टेंसी फर्म मैकिन्से एंड कंपनी ने दुनिया की 60 फीसदी आय वाले टॉप-10 देशों की बैलेंस शीट की जांच कर यह रिपोर्ट तैयार की है।

पिछले 20 वर्षों में चीन की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ी है। वर्ष-2000 चीन विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) का सदस्य बना। उस समय चीन की कुल संपत्ति 7 ट्रिलियन डॉलर आंकी गई थी, जो पिछले 20 सालों में बढ़कर 120 ट्रिलियन डॉलर हो गई है. यानी 20 साल में चीन की संपत्ति में 113 ट्रिलियन डॉलर का इजाफा हुआ है।

20 साल में दोगुनी हुई अमेरिका की दौलत

पिछले 20 वर्षों में चीन की तुलना में अमेरिका की संपत्ति में बहुत कम वृद्धि हुई है। साल 2020 में अमेरिका की कुल संपत्ति 90 ट्रिलियन डॉलर आंकी गई है. अमेरिकी संपत्ति पिछले 20 वर्षों में केवल दोगुनी हो गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका में संपत्ति की कीमतों में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं होने से संपत्ति चीन से कम रही और उसने पहले स्थान का नुकसान किया।

यह भी पढ़े:- अपनी मर्जी से शादी (Shaadi) की तो 11 लाख का जुर्माना, जिंदगी हो गई बदहाल

गौरतलब है कि अमेरिका और चीन दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं। रिपोर्ट के मुताबिक इन दोनों देशों की दो-तिहाई से ज्यादा दौलत सबसे अमीर 10 फीसदी लोगों के पास है और इनका हिस्सा लगातार बढ़ रहा है. मैकिन्से की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया की 68 फीसदी संपत्ति रियल एस्टेट में निवेश की जाती है। बाकी बुनियादी ढांचे, मशीनरी और उपकरण, बौद्धिक संपदा और पेटेंट में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *