Tuesday, July 23, 2024
a

Homeटेक ज्ञानजापान की 'flying car' का सफल परीक्षण, 2023 तक बाजार में आने...

जापान की ‘flying car’ का सफल परीक्षण, 2023 तक बाजार में आने की उम्मीद

जापान की ‘फ्लाइंग कार’ (flying car) का सफल परीक्षण, 2023 तक बाजार में आने की उम्मीद

टोक्यो: हॉलीवुड अभिनेता रॉबिन विलियम्स की 1997 की फिल्म ‘फ्लबर’ में ‘फ्लाइंग कार’ का दृश्य दिखाया गया है। लोग दशकों से सपना देख रहे हैं कि सड़कों पर कार चलाना जितना आसान है, उतना ही आसान इसे आसमान में उड़ाना है। इस तरह की कार की इच्छा सड़क पर लंबे जाम के दौरान ज्यादातर लोगों के मन में होती है।

लेकिन अब यह सपना सच हो रहा है। जापान के स्काईड्राइव इंक ने एक व्यक्ति के साथ अपनी ‘फ्लाइंग कार’ का सफल परीक्षण किया है।

यह भी देखे:- Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah: नेहा मेहता ने अंजलि भाभी की भूमिका छोड़ने का चौंकाने वाला राज बताया

कंपनी ने मीडिया को इसका एक वीडियो दिखाया, जिसमें एक मोटरबाइक जैसे प्रोपेलर माउंटेड प्रोपेलेंट ने इसे जमीन से कई फीट (एक से दो मीटर) की ऊंचाई तक उड़ाया। मोटरसाइकिल एक निश्चित क्षेत्र में चार मिनट तक हवा में रही।

टॉमहिरो फुकुजावा, जो स्काईड्राइव में परियोजना का नेतृत्व कर रहे हैं, ने कहा कि उन्हें 2023 तक वास्तविक उत्पाद के रूप में ‘उड़ने वाली कार’ होने की उम्मीद है। हालांकि, उन्होंने स्वीकार किया कि इसे सुरक्षित बनाना एक बड़ी चुनौती है।

यह भी देखे:- WeChat पर अमेरिका-चीन में खुला युद्ध, क्या Apple पर पड़ेगी मार?

 

flying car
file photo flying car

उन्होंने कहा, “उड़ान कारों के लिए दुनिया भर में 100 से अधिक परियोजनाएं चल रही हैं। उनमें से कुछ ही हैं जो एक व्यक्ति के साथ उड़ान भरने में सफल रहे हैं। मुझे आशा है कि बहुत से लोग इसे चलाना चाहते हैं और सुरक्षित महसूस करना चाहते हैं,” उन्होंने कहा। ने कहा। वर्तमान में केवल पांच से 10 मिनट उड़ सकते हैं, लेकिन इसकी उड़ान का समय 30 मिनट तक बढ़ाया जा सकता है। इसमें कई संभावनाएं हैं और इसे चीन जैसे देशों में भी निर्यात किया जा सकता है।

यह भी देखे:- निर्मला के ‘एक्ट ऑफ गॉड’ पर राहुल का वार – डिमॉनेटाइजेशन – GST – लॉकडाउन से बर्बाद हुई अर्थव्यवस्था

स्काईड्राइव परियोजना पर काम एक स्वैच्छिक परियोजना के रूप में 2012 में शुरू हुआ। इस परियोजना को जापान की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी टोयोटा मोटर कॉर्प, इलेक्ट्रॉनिक कंपनी पैनासोनिक कॉर्प और वीडियो गेम कंपनी NAMCO द्वारा वित्त पोषित किया गया था। तीन साल पहले इस कार का एक परीक्षण हुआ था जो विफल रहा था। 1962 में, बच्चों के एनिमेटेड कार्यक्रम द जेटसन ने भविष्य की फ्लाइंग कार की परिकल्पना की।

यह भी देखे:- भारतीय कंपनियों ने China के खिलाफ एक और कदम उठाया

 

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments