कुदरत का राज

कुदरत का राज: इस झील में गिरते ही इंसान बन जाता है ‘पत्थर’, सामने आया ये कारण

audio
Voiced by Amazon Polly

कुदरत का राज: इस झील में गिरते ही इंसान बन जाता है ‘पत्थर’, सामने आया ये कारण

प्रकृति में अपने आप में कई रहस्य हैं। आपने कई आम झीलें देखी होंगी, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी झील के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें इंसान हो या जानवर जाते ही पत्थर की तरह सख्त हो जाते हैं। यह सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा है, लेकिन यह पूरी तरह सच है।

चुनिंदा जानवर ही मिलते हैं

लेक नैट्रॉन नाम की यह झील तंजानिया के अरुशा क्षेत्र के उत्तरी नागोरोंगोरो जिले में है। इसमें चुनिंदा जानवर ही पाए जाते हैं। अगर कोई आम जीव इसमें उतरता है तो वह जम जाता है। हालांकि कुछ चुनिंदा जीव ऐसे भी हैं, जो इस झील में रहते हैं, लेकिन उनकी जिंदगी ज्यादा नहीं टिकती है। इस क्षेत्र में फ्लेमिंगो नाम के बहुत सारे पक्षी हैं।

यह भी पढ़े:- भारत में लॉन्च हुआ Jeep Compass Night Eagle edition , अब बढ़ेगा ड्राइविंग का मजा

रहस्यमय ज्वालामुखी है वजह

वैसे इस रहस्यमयी झील का रहस्य दशकों पहले वैज्ञानिकों ने सुलझाया था। उनके अनुसार इसका पानी बहुत क्षारीय होता है। इसका कारण ओल डोइन्यो लेंगई ज्वालामुखी है, जो झील की तरह रहस्यमयी है। इसमें से अजीबोगरीब लावा निकलता है। जिसे नैट्रोकार्बोनाइट कहते हैं। वहीं झील के आसपास की पहाड़ियों में सोडियम कार्बोनेट और अन्य खनिज भी थे, जो आकर उसमें मिल गए। इस वजह से पानी क्षारीय हो गया है।

यह भी पढ़े:- Ford Endeavour से बड़ी होगी नई Mahindra Scorpio, इस दिन लॉन्च हो सकती है ये दमदार कार

यही कारण है

वैज्ञानिकों के अनुसार झील के पानी का पीएच स्तर बहुत अधिक है। जिसकी वजह से अगर कोई इंसान या जानवर इसमें चला जाता है तो उसका शरीर जलने लगेगा और बाद में उसकी मौत हो जाएगी। राजहंस की बात करें तो इनकी त्वचा सख्त और पपड़ीदार होती है। जिस वजह से इस पानी का असर उन पर नहीं होता, बल्कि कोमल चमड़ी वाले इंसानों के लिए काफी घातक होता है। वैसे बारिश के कारण इस पानी का पीएच लेवल बदलता रहता है।

यह भी पढ़े:-  Best Mileage Car : इस बेहतरीन माइलेज वाली गाड़ी का प्रोडक्शन शुरू, देखें भारत में कब होगी लॉन्च

लाशें पत्थरों की तरह क्यों दिखती हैं?

इस झील में कई जानवरों के शव पड़े हैं, जो देखने में ऐसा लगता है कि ये पत्थर के बने हैं और खराब नहीं होते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार इस पानी में शरीर सड़ता नहीं है, इसलिए इसमें गिरने वाले जानवरों और इंसानों का शरीर वही रहता है। वह कमजोर हो जाता है क्योंकि पानी और खून सूख गया है। इस कारण दूर से देखने पर ऐसा लगता है कि यह पत्थर का बना है।

यह भी पढ़े:- Bolero का नया अवतार देगा स्कॉर्पियो को कड़ी टक्कर, दमदार फीचर्स के साथ जल्द होने वाली है लॉन्च

यह भी पढ़े:- Mahindra Thar : पैनोरमिक सनरूफ के साथ भारत की पहली थार

यह भी पढ़िए | भारत में लॉन्च  Jeep Meridian SUV, मिलेंगे कई शानदार फीचर्स

यह भी पढ़े :- जबरदस्त अंदाज में होगी नई Mahindra Scorpio की एंट्री, इसी महीने लॉन्च होगी SUV

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़  के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े

Leave a Reply

Your email address will not be published.