Monday, December 5, 2022
HomeUncategorizedलड़कियों (girls) के लिए योजना: 8वीं में 40 हजार, 10वीं में 75...

लड़कियों (girls) के लिए योजना: 8वीं में 40 हजार, 10वीं में 75 हजार और 12वीं में 1 लाख, जानिए कौन है पात्र

लड़कियों (girls) के लिए योजना: 8वीं में 40 हजार, 10वीं में 75 हजार और 12वीं में 1 लाख, जानिए कौन है पात्र

अब व्यावसायिक शिक्षा की छात्राओं को भी 10वीं और 12वीं के माध्यमिक शिक्षा मंडल से उत्तीर्ण छात्राओं के लिए चलाई जा रही इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार योजना का लाभ मिलेगा.

इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार: राजस्थान में राज्य सरकार ने लड़कियों के लिए एक और अहम कदम उठाया है. दरअसल, राज्य सरकार ने अधिक से अधिक लड़कियों को लाभ देने के लिए इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार योजना का दायरा बढ़ाने का फैसला किया है. इस संबंध में राजस्थान शिक्षा विभाग ने ट्वीट कर कहा है कि व्यावसायिक शिक्षा की धारा से कक्षा 10वीं और 12वीं पास करने वाली छात्राओं को भी अब इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार योजना का लाभ मिलेगा.

ये भी देखे :- Jio ने जीता दिल, देखें JioPhone की कीमत नेक्स्ट! फीचर्स इतने दमदार हैं कि फोन आते ही खरीद लेंगे

विभाग ने ट्वीट कर कहा, ‘माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से 10वीं और 12वीं पास छात्राओं के लिए चलाई जा रही इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार योजना का लाभ अब व्यावसायिक शिक्षा की छात्राओं को भी मिलेगा. कक्षा 8वीं, 10वीं और 12वीं की परीक्षा में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और विकलांग सहित 8 श्रेणियों में जिले में सर्वोच्च स्थान पाने वाली लड़कियों को पुरस्कार राशि दी जाती है.

खास बात यह है कि अब व्यावसायिक शिक्षा की लड़कियों को भी इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार योजना का लाभ मिलेगा। बता दें कि 8वीं पास करने वाली लड़कियों को 40 हजार, 10वीं पास करने वाली लड़कियों को 75 हजार और 12वीं पास करने वाली लड़कियों को 1 लाख रुपये दिए जाते हैं.

ये भी देखे :-  Beer एक अंग्रेजी नाम है, लेकिन इसे हिंदी में क्या कहते हैं? जानिए बीयर से जुड़ी खास बातें

कोविड में माता-पिता को खोने वाले छात्रों के कॉलेजों में प्रवेश

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार ने घोषणा की है कि कोविड-19 महामारी में अपने माता-पिता को खोने वाले छात्रों को राज्य के सरकारी कॉलेजों में प्रवेश दिया जाएगा, भले ही उनके न्यूनतम अंक हों। बता दें कि कॉलेज प्रवेश विभाग द्वारा जारी नई कॉलेज प्रवेश नीति के अनुसार इन छात्रों को अतिरिक्त सीटों पर प्रवेश दिया जाएगा. इसके अलावा ट्रांसजेंडर समुदाय के बच्चों और शहीदों को भी न्यूनतम अंकों पर सरकारी कॉलेजों में प्रवेश मिलेगा। खास बात यह है कि मौजूदा तीन फीसदी आरक्षण के अलावा शहीदों के बच्चों और पत्नियों को यह राहत मिलेगी. साथ ही आदिवासी उपयोजना क्षेत्रों में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए छात्रों को न्यूनतम मानदंड में 25 प्रतिशत की छूट दी जाएगी.

ये भी देखे :- पैन कार्ड खो गया? मिनटों में PAN Card डाउनलोड करें इस वेबसाइट पर जाकर ये है पूरी प्रक्रिया

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments