SBI

SBI 30 हजार श्रमिकों को VRS देने की तैयारी कर रहा है, ये मानदंड हैं

SBI 30 हजार श्रमिकों को VRS देने की तैयारी कर रहा है, ये मानदंड हैं

News Desk: एसबीआई वीआरएस योजना। देश का सबसे बड़ा ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (SBI) अपने कर्मचारियों के लिए एक स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) लाने की तैयारी कर रहा है। सूत्रों का कहना है कि “सेकंड इनिंग्स टैप वीआरएस -2020” नाम की योजना का मसौदा तैयार कर लिया गया है और इसे बैंक के निदेशक मंडल की मंजूरी की आवश्यकता है।

बैंक वीआरएस के जरिए खर्च में कटौती करना चाहता है। इस साल मार्च के अंत में इसके पास 2.49 लाख कर्मचारी थे, जिनमें से लगभग 30,190 वीआरएस के तहत आएंगे।

ये भी देखें:-Sanjay Raut की ‘अभद्र’ टिप्पणी पर Kangana Ranaut का पलटवार, वीडियो शेयर किया

SBI
file photo SBI

25 वर्ष से अधिक या 55 से अधिक उम्र में सेवा की

ड्राफ्ट के अनुसार, वीआरएस के माध्यम से, बैंक अपने चयनित कर्मचारियों को बाहर निकलने के लिए एक गरिमापूर्ण तरीका प्रदान करना चाहता है। इनमें वे कर्मचारी शामिल होंगे जो अपने करियर के शीर्ष पर पहुंच गए हैं, वे सर्वश्रेष्ठ स्तर के प्रदर्शन को प्राप्त नहीं कर पाए हैं, जिनके पास व्यक्तिगत समस्या है या जो बैंक के बाहर अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

यह योजना उन सभी स्थायी अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए होगी, जिन्होंने 25 वर्ष से अधिक की सेवा की है या जो 55 वर्ष की आयु तक पहुँच चुके हैं। मसौदे में कहा गया है कि यह योजना पहली दिसंबर से अगले साल फरवरी के अंत तक खुली रहेगी।

ये भी देखें:-BSNL ने 20,000 कर्मचारियों की छंटनी कर रहा

SBI
file photo SBI

1662.86 करोड़ रुपये बचाने के लिए एस.बी.आई.

एसबीआई के इस मसौदे के अनुसार, अगर 30 प्रतिशत योग्य कर्मचारी वीआरएस के लिए आवेदन करते हैं, तो बैंक को इस साल जुलाई के वेतन के आधार पर 1,662.86 करोड़ रुपये की शुद्ध बचत होगी।

जिन कर्मियों का वीआरएस आवेदन स्वीकार किया जाएगा, उन्हें सेवानिवृत्ति की शेष अवधि के लिए अंतिम वेतन का 50 प्रतिशत दिया जाएगा। हालांकि, यह राशि उनके 18 महीने के वेतन से अधिक नहीं होगी। इसके अलावा, उन्हें ग्रेच्युटी, पेंशन, पीएफ और मेडिकल से संबंधित सुविधाएं मिलेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *