Insurance

ट्रैक्टर चोरी या दुर्घटना के बाद ट्रैक्टर बीमा (Insurance) बेहद काम आता है, इससे संबंधित पूरी जानकारी पढ़ें

ट्रैक्टर चोरी या दुर्घटना के बाद ट्रैक्टर बीमा (Insurance) बेहद काम आता है, इससे संबंधित पूरी जानकारी पढ़ें

जीवन बीमा की तरह, अपने वाहनों का बीमा (Insurance) कराना भी महत्वपूर्ण है। कई काश्तकार ट्रैक्टर तो रखते हैं लेकिन अपने बीमा के प्रति लापरवाह होते हैं। ट्रैक्टर बीमा के कई लाभ हैं। आज के डिजिटल युग में, ट्रैक्टर बीमा खरीदने की प्रक्रिया भी बहुत आसान है।

कई छोटे और बड़े कृषि कार्यों के लिए ट्रैक्टरों की आवश्यकता होती है। फिर चाहे वह बुआई से पहले खेत को तैयार करना हो या फिर कटाई के बाद ले जाना हो। ट्रैक्टर के बिना खेती नहीं की जा सकती। ऐसी स्थिति में, यह महत्वपूर्ण है कि ट्रैक्टर को भी सुरक्षित किया जाना चाहिए ताकि किसी भी नुकसान की स्थिति में कोई समस्या न हो।

इसके लिए बीमा (Insurance) होना चाहिए। मोटर वाहन अधिनियम के तहत, वाहनों को खरीदने के बाद उनका बीमा करवाना आवश्यक है। ऐसा करने में विफलता के परिणामस्वरूप जुर्माना भी हो सकता है। ट्रैक्टर बीमा के कई लाभ हैं। दुर्घटना के बाद, ट्रैक्टर को नुकसान की लागत भी मिलती है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए हम आपको ट्रैक्टर इंश्योरेंस से जुड़ी बातें बताने जा रहे हैं।

ये भी देखे:- जगन्नाथ मंदिर (Jagannath Temple) की 35 हजार एकड़ जमीन बेच रही सरकार, ISKCON के प्रवक्ता ने कहा – मूर्ख हिंदुओं की उदासीनता

थर्ड पार्टी ट्रैक्टर इंश्योरेंस: किसी भी तीसरे पक्ष के दावों में यह ट्रैक्टर बीमा मालिक की कानूनी देयता को पूरा करता है। इसमें ट्रैक्टर को हुए नुकसान को कवर किया गया है। इसके अलावा, अगर दुर्घटना में ट्रैक्टर के कारण कोई व्यक्ति घायल हो जाता है या मर जाता है, तो यह ट्रैक्टर भी बीमा के दायरे में आ जाएगा।

व्यापक ट्रैक्टर बीमा: ऐसे बीमा के ट्रैक्टर पूरी तरह से संरक्षित हैं। इसमें दुर्घटना की स्थिति में, प्राकृतिक आपदा की स्थिति में, आग या चोरी आदि की स्थिति में ट्रैक्टर के नुकसान की भरपाई की जाती है। ट्रैक्टर चालक को नुकसान शामिल है। यह एक ऐसी ट्रैक्टर बीमा पॉलिसी है, जिसमें डैमेज कवर, पर्सनल एक्सीडेंट कवर और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कवर शामिल हैं।

आपको ट्रैक्टर बीमा क्यों लेना चाहिए?

किसी भी प्रकार की क्षति से निपटने के लिए ट्रैक्टर बीमा बिल्कुल आवश्यक है। ट्रैक्टर बीमा के कई लाभ हैं। देश के मोटर वाहन अधिनियम के तहत, देश के प्रत्येक ट्रैक्टर के लिए बीमा लेना अनिवार्य है। उनके पास कम से कम थर्ड पार्टी इंश्योरेंस होना चाहिए। ऐसा करने में विफलता के कारण कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है। ट्रैक्टर का न केवल कानूनी दायित्व के लिए बल्कि अन्य कारणों से भी बीमा किया जाना चाहिए।

एक इमरजेंसी पूछने से नहीं होती है, उस स्थिति में यदि आपने पहले ही अपने ट्रैक्टर का बीमा करवा लिया है, तो आप दावे के बाद कवर पाने के हकदार हैं। दुर्घटना की स्थिति में, आपका नुकसान चुकाया जाएगा। साथ ही, हर तरह के काम का अपना जोखिम होता है। ऐसी स्थिति में, यदि आपका ट्रैक्टर कृषि ट्रैक्टर बीमा पॉलिसी के अंतर्गत नहीं आता है, तो आपको कई नुकसानों का सामना करना पड़ सकता है।

ये भी देखे:- गडकरी ने संसद में घोषणा की – एक साल में सभी टोल प्लाजा हटा दिए जाएंगे, राजमार्ग पर GPS ट्रैकर लगाए जाएंगे

ट्रैक्टर बीमा क्या है?

1. किसी भी दुर्घटना के कारण नुकसान ट्रैक्टर बीमा में शामिल है।

यदि ट्रैक्टर चोरी हो गया है और मालिक ने इसका बीमा कराया है, तो उसे चुकाया जा सकता है।

2. यदि कृषि कार्य के लिए उपयोग किया जाने वाला ट्रैक्टर बाढ़, भूकंप, सुनामी, भूस्खलन जैसी प्राकृतिक आपदा की स्थिति में क्षतिग्रस्त हो जाता है, तो इसे बीमा के बाद चुकाया जा सकता है।

3. ट्रैक्टर के कारण किसी तीसरे व्यक्ति की संपत्ति को नुकसान या किसी व्यक्ति की दुर्घटना की स्थिति में ट्रैक्टर बीमा बहुत उपयोगी हो सकता है।

4. यदि ट्रैक्टर चालक ड्राइविंग के दौरान घायल हो जाता है तो उसके इलाज की लागत को कवर करने के लिए ट्रैक्टर बीमा काम में आ सकता है।

5. अगर किसी आतंकवादी हमले, पथराव, उपद्रव या किसी दंगे के कारण ट्रैक्टर को नुकसान हुआ है, तो नुकसान ट्रैक्टर बीमा के तहत चुकाया जाएगा।

6. अगर किसी भी तरह की आग में ट्रैक्टर को कोई नुकसान होता है, तो ट्रैक्टर बीमा की स्थिति में हुए नुकसान की भरपाई की जा सकती है।

ये भी देखे:- SBI, HDFC बैंक अकाउंट हैं तो, हो जाएं सावधान! अलर्ट जारी किया

घर पर ट्रैक्टर बीमा का दावा कैसे करें

ट्रैक्टर बीमा के लिए दावे दो तरह से ऑनलाइन दर्ज किए जा सकते हैं। पहला कैशलेस क्लेम है और दूसरा रीइंबर्समेंट क्लेम है। आप कैशलेस क्लेम तभी कर सकते हैं जब नुकसान के बाद ट्रैक्टर को नेटवर्क के गैरेज में ही रिपेयर किया जाए। जबकि, प्रतिपूर्ति के दावे में, आप किसी भी गैर-नेटवर्क गैरेज में ट्रैक्टर की क्षति को ठीक करते हैं और फिर उसके बिल की प्रतिपूर्ति करते हैं।

आप ट्रैक्टर बीमा कैसे खरीद सकते हैं

ऑनलाइन ट्रैक्टर बीमा (Insurance) खरीदने की प्रक्रिया बहुत सरल और पारदर्शी है। अगर आप भी अपना ट्रैक्टर बीमा ऑनलाइन खरीदना चाहते हैं, तो आप वाणिज्यिक वाहन बीमा वेबसाइट पर जाकर ऐसा कर सकते हैं। यहां आपको ट्रैक्टर की पंजीकरण जानकारी, स्थान आदि जैसी सभी जानकारी प्रदान करनी होगी। आपको अपनी पसंद की बीमा पॉलिसी भी चुननी होगी। इसके सभी कागजात अपलोड करने के बाद, आप कुछ चरणों में बीमा खरीद सकते हैं। पुराने ट्रैक्टर के बीमा का नवीनीकरण भी किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *