CNG

राजस्थान रोडवेज को घाटे से उबारने के लिए CNG बसों का पायलट प्रोजेक्ट शुरू

राजस्थान रोडवेज को घाटे से उबारने के लिए CNG बसों का पायलट प्रोजेक्ट शुरू

राजस्थान में सीएनजी बस का ट्रायल शुरू यह बस 53 किमी का सफर किशनगंज, भंवरगढ़, पारानिया होते हुए नाहरगढ़ तक जाएगी। सीएनजी से बसें चलाने का पायलट प्रोजेक्ट अगर सफल होता है तो इसे पूरे राज्य में लागू किया जाएगा।

घाटे में चल रही राजस्थान रोडवेज से निजात पाने के लिए अब सीएनजी तकनीक का इस्तेमाल किया जाने लगा है। राजस्थान में आज से बारां में सीएनजी की पहली बस सेवा शुरू हो गई है. बारां रोडवेज डिपो से नाहरगढ़ कस्बे के लिए पहली सीएनजी बस को ट्रायल के तौर पर शुरू किया गया है। सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही पूरे राजस्थान में सीएनजी की बसें सड़कों पर दौड़ती नजर आएंगी।

ये भी देखे  :- Ampere Electric Scooter खरीदना आसान, कीमत में 20,000 तक की कटौती 

रोडवेज को मिला फायदा वैक्सीन

बस में फायदेमंद नजर आ रही यह वैक्सीन राजस्थान रोडवेज को घाटे से बचा सकती है। दरअसल, राजस्थान में सीएनजी बस सेवा को ट्रायल के तौर पर शुरू किया गया है। इसकी शुरुआत सबसे पहले बारां जिले से की गई, जहां आज रोडवेज डिपो से विधिवत पूजा कर बस को नाहरगढ़ कस्बे के लिए रवाना किया गया. यह बस 53 किमी का सफर किशनगंज, भंवरगढ़, पारानिया होते हुए नाहरगढ़ तक जाएगी।

बारां से नाहरगढ़ तक करेंगे दो फेरे

रोडवेज प्रबंधक सुनीता जैन ने विधिवत पूजा-अर्चना कर पहली बस को गंतव्य के लिए रवाना किया। इस दौरान रोडवेज के कई अधिकारी व कर्मचारी भी मौजूद रहे। यह बस रोजाना नाहरगढ़ के 2 चक्कर लगाएगी। जिसका कुल सफर 212 किमी का होगा। पहले राउंड में बस बारां से सुबह 11 बजे रवाना होकर नाहरगढ़ पहुंचेगी। वापसी में यह बस दोपहर एक बजे नाहरगढ़ से रवाना होगी। दूसरे राउंड में यह बारां से 3.30 बजे रवाना होगी और वापसी में वही बस नाहरगढ़ से शाम 5.30 बजे रवाना होगी.

ये भी देखे :- सोशल मीडिया (social media ) पर वायरल हुआ शादी के रिसेप्शन का मेन्यू कार्ड, तस्वीर देखकर लोग बोले- ‘ये मोटर पनीर क्या है 

घाटे से उबरेगी सीएनजी बस

बारां में सीएनजी की आसान उपलब्धता को देखते हुए इस बस को बारां से रवाना किया गया है। घाटे को दूर करने और पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए क्योंकि सीएनजी डीजल की तुलना में 40 प्रतिशत तक सस्ता है, रोडवेज ने डीजल बस को सीएनजी में बदलने का परीक्षण शुरू कर दिया है। अगर यह बस सफल रही तो रोडवेज कई पुरानी बसों को सीएनजी में तब्दील कर देगा। ये बसें पूरे राज्य में चलाई जाएंगी। रोडवेज द्वारा निंदनीय एवं जर्जर बसों का जीर्णोद्धार कर उसमें सीएनजी किट लगाकर संचालित किया जाएगा।

ये भी देखे :- Rajasthan News :-   दुल्हन को दूल्हे के साथ फेरे लेने के लिए 3 दिन से है इंतजार, जानिए क्या है पूरा मामला

प्रोजेक्ट सफल होने पर और बसें चलाएंगे

रोडवेज बारां डिपो की मुख्य प्रबंधक सुनीता जैन ने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत निगम की ओर से सीएनजी से बसों के संचालन को लेकर विश्लेषण किया जाएगा. इसके लिए बारां से नाहरगढ़ रूट पर सीएनजी बस संचालन शुरू कर दिया गया है। इस मार्ग से होने वाली आय को लेकर निगम अधिकारियों की ओर से विश्लेषण किया जाएगा। सफल होने पर इसे निगम द्वारा पूरे राज्य में लागू किया जाएगा। रोडवेज बेड़े में शामिल अन्य बसों का संचालन सीएनजी से किया जाएगा।

परियोजना के लिए मुफ्त सीएनजी किट

आज से शुरू हुई बस रोडवेज की पुरानी बीएस थर्ड बस है, जिसका नवीनीकरण कर सीएनजी किट लगाई गई है। सीएनजी से भर जाने के बाद यह 250 किलोमीटर तक चलेगी। एक बस में सीएनजी का खर्चा 3 लाख 50 हजार रुपये आया है। पायलट प्रोजेक्ट में एक निजी कंपनी द्वारा इस बस में मुफ्त सीएनजी किट लगाई गई है। ट्रायल में अगर सब कुछ ठीक रहा तो यह विश्वस्तरीय तकनीक घाटे में चल रहे रोडवेज को उबार सकती है।

ये भी देखे :-  ऐसा डांस आपने कभी नहीं देखा होगा! Social Media पर ‘आग’ का वीडियो देख दिग्गज भी हुए ‘हैरान’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *