Nestle

कंपनी के दस्तावेज़ के अनुसार, Nestle के अधिकांश खाद्य उत्पाद अस्वस्थ हैं

कंपनी के दस्तावेज़ के अनुसार, Nestle के अधिकांश खाद्य उत्पाद अस्वस्थ हैं

दुनिया की सबसे बड़ी फूड कंपनी नेस्ले का विवादों से पुराना नाता है और वह एक बार फिर चर्चा में है। हालांकि इस बार खुद नेस्ले ने माना है कि उसके कई उत्पाद सेहतमंद नहीं हैं। कंपनी के इंटरनल प्रेजेंटेशन के दौरान नेस्ले ने बताया है कि उसके 60 फीसदी से ज्यादा प्रोडक्ट स्वास्थ्य के मानकों पर खरे नहीं उतरते हैं.

नेस्ले ने एक दस्तावेज़ में कहा, “हमारे 60 प्रतिशत से अधिक भोजन और पेय ‘स्वास्थ्य की मान्यता प्राप्त परिभाषा’ को पूरा नहीं करते हैं और हमारे कुछ उत्पाद कभी भी ‘स्वस्थ’ नहीं होंगे, चाहे हम उन्हें कितना भी सुधारें। ‘

फाइनेंशियल टाइम्स के अनुसार, Nestle के 37 प्रतिशत खाद्य और पेय उत्पादों की रेटिंग 3.5 है। इनमें पशु आहार और चिकित्सीय पोषण शामिल नहीं है। यह रेटिंग ऑस्ट्रेलिया के हेल्थ स्टार रेटिंग सिस्टम ने दी है। यह रेटिंग प्रणाली 1 से 5 सितारों तक के खाद्य पदार्थों को स्कोर करती है और इसका उपयोग एक्सेस टू न्यूट्रिशन फाउंडेशन अंतरराष्ट्रीय समूहों में अनुसंधान के लिए किया जाता है।

ये भी देखे:- LPG ग्राहकों के लिए बड़ी राहत, 122 रुपये तक घट गए दाम!

किटकैट चॉकलेट, मैगी, नूडल्स और नेस्कैफे बनाने वाली नेस्ले ने 3.5 स्टार रेटिंग ‘स्वास्थ्य की मान्यता प्राप्त परिभाषा’ के रूप में दी है। नेस्ले ने अपनी प्रस्तुति में कहा कि खाद्य और पेय पोर्टफोलियो में नेस्ले के लगभग 70 प्रतिशत उत्पाद आवश्यक मानकों को पूरा करने में विफल रहे। इसमें 96 प्रतिशत पेय और 99 प्रतिशत कन्फेक्शनरी और आइसक्रीम पोर्टफोलियो, शुद्ध कॉफी को छोड़कर शामिल हैं।

वहीं दूसरी तरफ पानी और डेयरी उत्पादों को रेटिंग में बेहतर स्कोर मिला है। पानी 82 फीसदी और डेयरी 60 फीसदी मिला है। “हमने अपने उत्पादों में महत्वपूर्ण सुधार किए हैं, लेकिन हमारा पोर्टफोलियो अभी भी स्वास्थ्य की परिभाषा में कमजोर है जहां नियामक दबाव और उपभोक्ता मांग आसमान छू रही है,” कंपनी ने कहा।

ये भी देखे:- सिर्फ 5 हजार का निवेश कर 50 हजार कमाने का मौका! यह बिजनेस (Business) शुरू करें, सरकार भी करेगी मदद

कंपनी का कहना है कि वह अपने पोषण मानक में भी लगातार सुधार कर रही है। नेस्ले के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, मार्क श्नाइडर ने स्वीकार किया कि लोग स्वस्थ आहार चाहते हैं, लेकिन इस दावे को खारिज कर दिया कि नेस्ले और अन्य बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा बनाए गए प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ अस्वस्थ हैं।

नेस्ले ने कहा है, ‘कंपनी अपनी पोषण और स्वास्थ्य रणनीति को अपडेट करने पर काम कर रही है। लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए हम पूरे पोर्टफोलियो को बदलने पर विचार कर रहे हैं ताकि लोगों को जरूरी पोषण और संतुलित आहार दिया जा सके।

नेस्ले ने कहा, ‘हमारे प्रयास दशकों से किए गए कार्यों की मजबूत नींव पर बने हैं। उदाहरण के लिए, हमने पिछले दो दशकों में अपने उत्पादों में चीनी और सोडियम को काफी कम किया है, पिछले 7 वर्षों में यह घटकर लगभग 14-15 प्रतिशत पर आ गया है।

 ये भी देखे:- सड़क कितनी भी खराब क्यों न हो, Car के ये 4 फीचर्स ड्राइवर को थकने नहीं देते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *