EPF

19 करोड़ ईपीएफ( EPF) खाताधारकों के लिए मोदी सरकार कर सकती है बड़ी घोषणा

19 करोड़ ईपीएफ( EPF) खाताधारकों के लिए मोदी सरकार कर सकती है बड़ी घोषणा

NEWS DESK :- मीडिया में पीएम (EPF) खाताधारकों के लिए सरकारी सूत्रों के हवाले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन जल्द ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से बात करने के बाद पीएफ कटौती के बारे में एक बड़ी घोषणा कर सकता है। ये भी देखे :- आज लॉन्च होगा डिजिटल वोटर कार्ड (Digital voter card) ,जानिए- कैसे और कौन कर सकता है डाउनलोड

डीएनए इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, नरेंद्र मोदी सरकार वर्तमान में 15 हजार के बजाय 21 हजार के वेतन मानक पर पीएफ काटने की योजना पर काम कर रही है। पिछले कई दिनों से विभाग और केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच इस विषय पर लगातार चर्चा हो रही है।

रिपोर्ट के अनुसार, उद्योग के लोग और श्रमिक संघ के प्रतिनिधि पिछले दिनों श्रम मंत्रालय के साथ बैठ गए हैं। हालांकि, सरकार ने मामले में अंतिम निर्णय नहीं लिया है। लेकिन, यह अनुमान लगाया जा रहा है कि अब पीएफ की कटौती का मानक उठाया जाएगा। ये भी देखे :- भ्रष्टाचार के मजबूत कारणों से बजरी में चमक: बनास नदी में प्रतिदिन 2 हजार ट्राली बजरी की तस्करी, माफिया रोज कमा रहे हैं 2.88 करोड़

आपको बता दें कि लंबे समय से श्रमिक संघ के लोग सरकार से मांग कर रहे थे कि जिन कर्मचारियों का मासिक वेतन 15,000 रुपये है, उनका पीएफ नहीं काटा जाना चाहिए। अब सरकार भी सोच रही है कि इस मानक को 15000 से बढ़ाकर 21 हजार किया जाए।
यही नहीं, सरकार ट्रेड यूनियन की एक और मांग पर भी विचार कर रही है। वास्तव में, ट्रेड यूनियन ने यह भी मांग की कि सभी प्रकार के श्रमिकों के लिए अलग-अलग कानून बनाए जाने चाहिए। उदाहरण के लिए, पत्रकार, सिनेमा कर्मचारी, बीड़ी श्रमिक, भवन और अन्य निर्माण से जुड़े श्रमिक आदि सभी का काम अलग-अलग होता है।

इस मामले में, उनके लिए नियम अलग-अलग होने चाहिए। ऐसी स्थिति में, संघ की मांग है कि पूरी नौकरी के दौरान दी जाने वाली छुट्टी को घटाकर 300 कर दिया जाए, जो वर्तमान में 240 है। सरकार का एक निर्णय भी इस मांग पर जल्द ही आ सकता है।   ये भी देखे:- राजस्थान (Rajasthan) में विवाह का पंजीकरण आसान होगा

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, यदि सरकार नई वेतन सीमा लागू करती है, तो इससे वार्षिक कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) में काफी वृद्धि होने की संभावना है। संभावना है कि इस निर्णय से पेंशन योजना में कम से कम 50% (3,000 करोड़ रु।) की वृद्धि होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *