Friday, February 23, 2024
a

HomeदेशModi Governmen किसानों को 2000 रुपये दे रही है, इस तरह से...

Modi Governmen किसानों को 2000 रुपये दे रही है, इस तरह से आवेदन करें

Modi governmen (मोदी सरकार) किसानों को 2000 रुपये दे रही है, इस तरह से आवेदन करें

यह पैसा देश के सभी 14.5 करोड़ किसान परिवारों को दिया जाना है, लेकिन इस योजना के तहत सभी सत्यापन नहीं किए गए हैं।  मोदी सरकार किसानों को वर्तमान संकट से बचाने के लिए वित्तीय मदद दे रही है।

प्रधानमंत्री किसान निधि योजना के तहत, देश के किसानों को 2 हजार रुपये दिए जा रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार, किसानों को केंद्र सरकार के डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से पैसा मिलेगा। हम आपको बता रहे हैं कि इससे

ये भी देखे :- 2024 में इंसान फिर से चाँद पर आएगा, US Government ने $ 28 बिलियन की मंजूरी दी

आपको कैसे फायदा हो सकता है …

14.5 करोड़ किसानों को पैसा दिया जाना है

पीएम किसान योजना के तहत किसानों के खाते में 2,000 रुपये स्थानांतरित किए जा रहे हैं। पिछले डेढ़ महीने में 8.80 करोड़ लोगों को 2-2 हजार रुपये भेजे गए हैं। सभी पैसे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से भेजे जा रहे हैं। हमारी सहयोगी वेबसाइट zeebiz.com के अनुसार, यह पैसा देश के सभी 14.5 करोड़ किसान परिवारों को दिया जाना है, लेकिन इस योजना के तहत सभी सत्यापन नहीं किए गए हैं। ऐसे में अगर आप भी इस योजना से जुड़ना चाहते हैं तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। हालाँकि, यहाँ आपको कुछ नियमों को भी ध्यान में रखना होगा।

ये भी देखे :- Paytm ने Google पर लगाया भेदभाव का आरोप, कहा कैशबैक देना जुआ कब से हो गया

इस तरह आप आवेदन कर सकते हैं

योजना के तहत, आप घर बैठे ऑनलाइन पंजीकरण (पंजीकरण) कर सकते हैं। यदि आप आवेदन की स्थिति जानना चाहते हैं या उसमें कोई बदलाव करना चाहते हैं, तो आप वह भी कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको www.pmkisan.gov.in की वेबसाइट पर जाना होगा।

वेबसाइट के पहले पेज पर दाईं ओर बड़े अक्षरों में किसान कॉर्नर लिखा हुआ है। यदि आप यह देखना चाहते हैं कि आपका नाम सूची में है या नहीं, तो आपको लाभार्थी सूची / लाभार्थी सूची पर क्लिक करना होगा। इसके बाद, आप राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का नाम भरकर अपना नाम चेक कर सकते हैं।

यह सभी देखें:- Ram Mandir निर्माण: 70 एकड़ के परिसर से सटी जमीन की मापी पूरी हो गई है, पुलिस विभाग आवंटित किया जाएगा

अगर आपको पैसे नहीं मिलते हैं, तो यहां संपर्क करें

यदि आपने योजना के लिए आवेदन किया है और इसकी स्थिति के बारे में जानना चाहते हैं, तो लाभार्थी की स्थिति पर क्लिक करें। इसके बाद आप आधार नंबर, बैंक खाता नंबर या मोबाइल नंबर दर्ज करके वर्तमान स्थिति जान सकते हैं। आप PM-KISAN के हेल्पलाइन नंबर 011-24300606 पर कॉल करके भी अपने आवेदन की स्थिति जान सकते हैं। इस नंबर पर कॉल करके आप यह भी पता लगा सकते हैं कि आवेदन के बाद भी पैसा क्यों नहीं मिल रहा है।

अपना नाम जांचें

यदि आप सूची में अपना नाम जांचना चाहते हैं, तो आप सबसे पहले वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं। यहां होम पेज पर मेन्यू बार देखें और यहां किसान कॉर्नर पर जाएं। इसके बाद, यहां लाभार्थी सूची के लिंक पर क्लिक करें। अब अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का विवरण दर्ज करें। इसे भरने के बाद गेट रिपोर्ट पर क्लिक करें और पूरी सूची प्राप्त करें।

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments