Monday, April 15, 2024
a

Homeदेशक्या अब किसान आंदोलन (Kisan Andolan) खत्म होने वाला है? 169 दिनों...

क्या अब किसान आंदोलन (Kisan Andolan) खत्म होने वाला है? 169 दिनों के बाद किसान अमृतसर के पास रेलवे ट्रैक से हट गए

क्या अब किसान आंदोलन (Kisan Andolan) खत्म होने वाला है? 169 दिनों के बाद किसान अमृतसर के पास रेलवे ट्रैक से हट गए

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ (Kisan Andolan) रेलवे ट्रैक पर हड़ताल कर रहे किसानों के एक समूह ने 169 दिनों के बाद गुरुवार को अपना आंदोलन समाप्त कर दिया, क्योंकि ट्रेन संचालन के निलंबन के कारण उन्हें और व्यापारियों को नुकसान हो रहा था।

किसान मजदूर संघर्ष समिति के नेता सविंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने सभी प्रदर्शनकारी किसान संगठनों के साथ बैठक के बाद अमृतसर-दिल्ली मार्ग पर देवीदासपुरा में रेल जाम को समाप्त करने का निर्णय लिया। देवीदासपुरा, जंडियाला स्टेशन के पास, अमृतसर रेलवे स्टेशन से लगभग 25 किमी दूर है।

ये भी देखे:- PM Kisan: इन किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिलता है, जानिए क्या हैं इससे जुड़े नियम

उन्होंने कहा कि किसान (Kisan Andolan) केवल यात्री गाड़ियों को रोक रहे थे, लेकिन केंद्र ने मालगाड़ियों को रोकने का भी फैसला किया, जिससे किसानों, व्यापारियों और उद्योगपतियों को बहुत नुकसान हुआ। वर्तमान परिस्थितियों में, किसानों ने सर्वसम्मति से यहां आंदोलन समाप्त करने का निर्णय लिया। अधिकारियों ने कहा कि किसानों के यहां आंदोलन खत्म होने के साथ ही कुछ दिनों में ट्रेनों की सामान्य आवाजाही शुरू कर दी जाएगी।

गौरतलब है कि केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों पर गतिरोध अभी भी बरकरार है। कानूनों को निरस्त करने पर अड़े किसानों ने इस मुद्दे पर सरकार से आर-पार की लड़ाई का ऐलान किया है। इसके लिए 3 महीने से अधिक समय से दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन चल रहा है।

किसानों ने सरकार से जल्द से जल्द उनकी मांगों को स्वीकार करने की अपील की है। साथ ही, सरकार की ओर से स्पष्ट कर दिया गया है कि कानून को वापस नहीं लिया जाएगा, लेकिन संशोधन संभव है।

ये भी देखे :- Amazon और Flipkart को टक्कर देने के लिए CAIT अपना ऐप लॉन्च करेगी, जिसका नाम होगा ‘Bharat e Market’

बता दें कि किसानों ने हाल ही में तीन नए कृषि कानूनों को लागू किया – उत्पादकों के व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अधिनियम, 2020, मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा अधिनियम, 2020 पर किसान (सशक्तिकरण और संरक्षण) समझौता और आवश्यक वस्तु (संशोधन)) अधिनियम, 2020 का विरोध कर रहे हैं।

केंद्र सरकार इन तीन नए कृषि कानूनों को कृषि क्षेत्र में बड़े सुधार के रूप में पेश कर रही है, जबकि प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आशंका व्यक्त की है कि नए कानून एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) और मंडी प्रणाली को समाप्त कर देंगे। और वे बड़े कॉर्पोरेट होंगे जो निर्भर करेगा

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments