Inflation in India

Inflation in India: महंगाई बिगाड़ रहा मिडिल क्लास किचन का बजट, आंकड़ों के जरिए जानिए अपने राज्य की कहानी

audio
Voiced by Amazon Polly

Inflation in India: महंगाई बिगाड़ रहा मिडिल क्लास किचन का बजट, आंकड़ों के जरिए जानिए अपने राज्य की कहानी

हर दिन बढ़ती महंगाई ने आम आदमी के घर का बजट पूरी तरह से खराब कर दिया है. जहां ईंधन की लागत बढ़ी है, वहीं खाद्य सामग्री भी काफी महंगी हो गई है।

Inflation in India: मार्च के महीने में इस बार रिकॉर्ड तोड़ महंगाई बढ़ी है. पेट्रोल-डीजल समेत सीएनजी-पीएनजी और खाने-पीने का सामान सब काफी महंगा हो गया है। गौरतलब है कि मार्च के तीसरे महीने में खुदरा महंगाई दर 6 फीसदी यानी 6.95 फीसदी से ऊपर दर्ज की गई है, जो 17 महीने में सबसे ज्यादा है. दरअसल इससे पहले अक्टूबर 2020 के महीने में महंगाई की दर 7.61 फीसदी दर्ज की गई थी. गौरतलब है कि यह जानकारी राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की ओर से मंगलवार को जारी खुदरा महंगाई के आंकड़ों से मिली है.

यह भी पढ़े:- Bolero का नया अवतार देगा स्कॉर्पियो को कड़ी टक्कर, दमदार फीचर्स के साथ जल्द होने वाली है लॉन्च

वहीं खुदरा महंगाई ने मध्यम वर्ग के लोगों का किचन बजट पूरी तरह से खराब कर दिया है. आइए जानते हैं यहां के आंकड़ों के हिसाब से दिल्ली, यूपी, एमपी समेत तमाम राज्यों में महंगाई दर कितनी बढ़ी है.

दिल्ली-यूपी समेत अन्य राज्यों में मार्च महीने में कितनी रही महंगाई दर?

आंकड़ों के मुताबिक मार्च में खाना-पीना काफी महंगा हो गया। खाद्य पदार्थों की कीमतों में मार्च में औसतन 7.68 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इससे पहले फरवरी में कीमत में 5.85 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी। अगर हम राज्यों की बात करें

यह भी पढ़े :- जबरदस्त अंदाज में होगी नई Mahindra Scorpio की एंट्री, इसी महीने लॉन्च होगी SUV

उत्तर प्रदेश में दर्ज हुई महंगाई दर 8.19%
मध्य प्रदेश में मुद्रास्फीति दर 7.89% दर्ज की गई।
बिहार में महंगाई दर 7.56% रही।
महाराष्ट्र में महंगाई दर 7.62% दर्ज की गई।
पंजाब में महंगाई दर 4.39% रही।
दिल्ली में महंगाई दर 5.75% दर्ज की गई।
गुजरात में महंगाई दर 7.01% दर्ज की गई।
छत्तीसगढ़ में महंगाई दर 6.88% दर्ज की गई।
हरियाणा में महंगाई दर 7.43% रही।
झारखंड में महंगाई दर 7.42% दर्ज की गई।
राजस्थान में महंगाई दर 7.61 फीसदी रही।
उत्तराखंड में महंगाई दर 6.66% रही।

यह भी पढ़िए | भारत में लॉन्च  Jeep Meridian SUV, मिलेंगे कई शानदार फीचर्स

मार्च में खाने-पीने का सामान कितना महंगा हो गया?

आपको बता दें कि रूस-यूक्रेन युद्ध का असर महंगाई पर पड़ा है। इस वजह से खाद्य तेल की कीमत आसमान छू रही है। मार्च महीने में तेल और वसा की महंगाई दर बढ़कर 18.79 प्रतिशत हो गई। फरवरी माह में 16.44 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई। वहीं अगर सब्जियों के दाम की बात करें तो मार्च में इसमें औसतन 11.64 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. जबकि फरवरी में सब्जियों के दाम में औसतन 6.13 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी. इतना ही नहीं, मांस और मछली की कीमत में भी मार्च में औसतन 9.63 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इस दौरान ईंधन और बिजली श्रेणी में महंगाई दर मार्च में 7.52 फीसदी दर्ज की गई, जो फरवरी में 8.73 फीसदी थी.

यह भी पढ़े:- 2022 में भारत में 5 सबसे बहुप्रतीक्षित अपकमिंग SUV – नई स्कॉर्पियो से C3

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़  के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े

Leave a Reply

Your email address will not be published.