Indian App Store

जल्द आएगा Indian App Store, Google और Apple को देखा टक्कर

जल्द आएगा Indian App Store, Google और Apple को देखा टक्कर

Tech News : जल्द ही भारत सरकार भारतीय ऐप स्टोर लॉन्च कर सकती है। हाल ही में, Google ने ऐप्स के लिए 30 प्रतिशत शुल्क की घोषणा की, जिसके बाद भारतीय ऐप डेवलपर्स और उद्यमियों ने सरकार के साथ भारतीय ऐप स्टोर की मांग रखी।

भारत जल्द ही देश के ऐप पारिस्थितिकी तंत्र पर Google Play (Google Play Store) और Apple ऐप स्टोर के एकाधिकार को समाप्त करने के लिए अपना ऐप स्टोर लॉन्च कर सकता है। वास्तव में, भारत के ऐप डेवलपर्स और उद्यमियों ने भारतीय ऐप स्टोर बनाने की मांग की है। दो वरिष्ठ अधिकारियों ने ईटी को बताया कि केंद्र सरकार मांग पर विचार करेगी। आपको बता दें कि हाल ही में Google ने ऐसे ऐप के लिए 30 प्रतिशत शुल्क की घोषणा की है जो प्ले स्टोर पर मौजूद हैं लेकिन Google के बिलिंग सिस्टम का उपयोग नहीं कर रहे हैं।

ये भी देखे :- Rahul Priyanka हाथरस के लिए रवाना, कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज

पहले से ही भारतीय ऐप स्टोर है

एक भारतीय ऐप स्टोर पहले से मौजूद है जो वर्तमान में केवल सरकारी ऐप के लिए है। इसमें उमंग, आरोग्य सेतु और डिजीलॉकर जैसे ऐप हैं। एक अधिकारी ने कहा कि इसे शुरू करने के लिए बड़ा किया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार, फोन में Google Play Store के अलावा, वैकल्पिक ऐप स्टोर भी प्रीलोडेड हो जाता है, इसके लिए यह आवश्यक है कि स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों के लिए एक नीति पेश की जाए।

ये भी देखे :- देश AIIMS पैनल ने सुशांत मामले में मर्डर थ्योरी को खारिज कर दिया, सुसाइड की बात पर मुहर

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा कि वह भारतीय ऐप डेवलपर्स से सुझाव प्राप्त करके खुश थे। उन्होंने कहा कि भारतीय ऐप डेवलपर्स को आत्मनिर्भर भारत ऐप इकोसिस्टम बनाने के लिए प्रोत्साहित करना आवश्यक है।

ये भी देखे :- घर की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं? टेंशन छोड़िए, Amazon का नया ड्रोन घर की देखभाल करेगा

Google Play ने ऐप हटा दिया
बता दें कि गूगल प्ले स्टोर ने अपने प्लेटफॉर्म से कुछ ऐप को हटा दिया था, जिसमें पेटीएम भी शामिल था। Google ने Paytm पर जुआ खेलने का आरोप लगाया था, जिसका Paytm ने कड़ा विरोध किया था। हालांकि, 24 घंटे के भीतर ऐप Google Play पर वापस आ गया था। पिछले कुछ दिनों में इस तरह की घटनाओं के बाद भारतीय ऐप स्टोर की मांग बढ़ गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *