Wednesday, June 12, 2024
a

Homeटेक ज्ञानअगर आपके Aadhaar Card का दुरुपयोग नहीं हुआ है, तो इन बातों...

अगर आपके Aadhaar Card का दुरुपयोग नहीं हुआ है, तो इन बातों को जान लें अगर आप बचना चाहते हैं तो

अगर आपके Aadhaar Card का दुरुपयोग नहीं हुआ है, तो इन बातों को जान लें अगर आप बचना चाहते हैं तो 

NEWS DESK :- Aadhaar Card : प्रत्येक व्यक्ति के आधार पर, इससे संबंधित कई महत्वपूर्ण आंकड़े हैं, जिनका दुरुपयोग किया जा सकता है। ऐसे में जरूरी है कि आधार के गलत इस्तेमाल से बचा जाए। आधार डेटा की गोपनीयता बनाए रखने के लिए केंद्र सरकार भी कई आवश्यक कदम उठाती है।

ये भी देखे :- Amazon और Flipkart को टक्कर देने के लिए CAIT अपना ऐप लॉन्च करेगी, जिसका नाम होगा ‘Bharat e Market’

आज के समय में, सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज Aadhaar Card है। ऐसे में यह जरूरी है कि हर कोई अपने आधार की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दे और इसके किसी भी दुरुपयोग से सावधान रहे। भारत सरकार नागरिकों के आधार की सुरक्षा के लिए कई कदम उठा रही है ताकि आवश्यक डेटा का दुरुपयोग न हो सके। आधार को सुरक्षित करने का सबसे आसान तरीका इसे लॉक करना है।

लॉक और अनलॉक की पूरी प्रक्रिया को जानें

आधार लॉकिंग का मतलब है कि इसके 12 अंकों की संख्या और 16 अंकों की वर्चुअल आईडी (वीआईडी) के बजाय किसी भी तरह के आवश्यक प्रमाणीकरण के लिए उपयोग नहीं किया जाएगा। एक बार जब कोई व्यक्ति आधार को लॉक कर देता है, तो यूआईडी, यूआईडी टोकन आदि के लिए प्रमाणीकरण की प्रक्रिया नहीं होगी। इसमें बायोमेट्रिक, डेमो ग्राफिक और ओटीपी आधारित प्रमाणीकरण भी काम नहीं करेगा। अगर कोई नागरिक अपनी यूनिक आईडी अनलॉक करना चाहता है, तो उसे रेजिडेंट पोर्टल पर जाकर अनलॉक किया जा सकता है। अनलॉक करने के बाद, सभी प्रकार की प्रमाणीकरण प्रक्रिया पूरी हो सकती है।

ये भी देखे :- राजस्थान विश्वविद्यालय (Rajasthan University) की परीक्षा इसी दिन से शुरू होगी, यह है परीक्षा बदलाव परीक्षा

बॉयोमीट्रिक्स लॉक

आधार धारकों के पास आधार बायोमेट्रिक लॉक करने का भी विकल्प है। बायोमेट्रिक लॉक या अनलॉक एक ऐसी सेवा है जिसके तहत आधार धारक अपने बायोमेट्रिक को कुछ समय के लिए लॉक करता है और जरूरत पड़ने पर उसे अनलॉक करता है। इस सुविधा का उद्देश्य बायोमेट्रिक डेटा की गोपनीयता की रक्षा करना है।

एक बायोमेट्रिक लॉक सुनिश्चित करता है कि फिंगरप्रिंट या सुराख़ से जुड़ी तिथि का दुरुपयोग नहीं किया जा सकता है। आधार कार्ड धारक अपने बायोमेट्रिक को भी आसानी से अनलॉक कर सकते हैं।
आधार लॉक कैसे करें? यूनिट पहचान को लॉक करने के लिए, एक व्यक्ति के पास 16 अंकों का वर्चुअल आईडी नंबर होना चाहिए। अगर किसी के पास VID नहीं है, तो उसे SMS के जरिए भी जनरेट किया जा सकता है। इसके लिए मैसेज बॉक्स में GVID लिखकर, आधार के अंतिम 4 या 8 अंकों को स्पेस के बाद लिखना होगा। इसके बाद यह संदेश 1947 पर भेजना होगा। उदाहरण: GVID 1234

आधार लॉक या अनलॉक की प्रक्रिया क्या है?

रेजिडेंट पोर्टल पर जाएं, My Adhaar के सेक्शन में जाएं और यहां Aadhaar Services में लॉक एंड अनलॉक पर क्लिक करें। इसमें यूआईडी लॉक रेडियो बटन पर क्लिक करें और आधार नंबर दर्ज करें। इसके बाद, पूरा नाम, पिनकौर और नवीनतम विवरण दर्ज करने के बाद, सुरक्षा कोड भरना होगा। इसके बाद, ओटीपी पर क्लिक करें या टीओटीपी चुनें और सबमिट बटन पर क्लिक करें।

ये भी देखे :- आपकी बेटी का नाम Ration card में दर्ज है, तो इस खबर को पढ़ें

अपनी विशिष्ट आईडी अनलॉक करने के लिए, आपके पास एक परीक्षण VID नंबर होना चाहिए। यदि आप 16 अंकों की VID संख्या भूल जाते हैं, तो आप इसे पुनः प्राप्त भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको आरवीआईडी ​​लिखकर अंतरिक्ष के बाद आधार संख्या के अंतिम 4 या 8 अंकों को लिखना होगा और 1947 पर भेजना होगा। उदाहरण: RVID 1234 VID प्राप्त करने के बाद, अनलॉक रेडियो बटन पर क्लिक करें और नवीनतम VID भरें। इसके बाद, सुरक्षा कोड दर्ज करें और ओटीपी मांगें या टीओटीपी चुनें और सबमिट पर क्लिक करें। इसके बाद आपका आधार कार्ड अनलॉक हो जाएगा।

आधार बायोमेट्रिक्स को लॉक या अनलॉक कैसे करें?

इसके लिए भी आपको रेजिडेंट पोर्टल पर जाना होगा। इस पोर्टल पर My Adhaar सेक्शन में जाने के बाद Aadhaar Service Service पर जाएं। इसमें लॉक / अनलॉक बायोमेट्रिक्स का विकल्प होगा। अगले स्टेप में अपना Adhar नंबर या VID नंबर डालें। कैप्चा कोड डालने के बाद, पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी मांगें। ओटीपी सबमिट करने के बाद इसे सबमिट करें। ऐसा करने के बाद, आपका बायोमेट्रिक लॉक हो जाएगा। आधार बायोमेट्रिक अनलॉक करने के लिए उसी प्रक्रिया का पालन करें।

ये भी देखे :- अब Google Maps बताएगा कि आपका परिवार कहां है, स्कूल से घर कब पहुंचा आपका बच्चा, इसे इस तरह से उपयोग करें

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments