Monday, July 15, 2024
a

HomeUncategorizedअगर आपके घर में car है, तो यह खबर जरूर पढ़ लें,...

अगर आपके घर में car है, तो यह खबर जरूर पढ़ लें, 1 अप्रैल से 80 हजार से ज्यादा वाहन डंप होंगे

अगर आपके घर में Car है, तो यह खबर जरूर पढ़ लें, 1 अप्रैल से 80 हजार से ज्यादा वाहन डंप होंगे 

NEWS DESK :- केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावित नई स्क्रैप नीति जिले में 80 हजार से अधिक वाहनों को प्रभावित करेगी। बजट में स्क्रैप नीति की घोषणा के बाद परिवहन विभाग ने पुराने वाहनों की सूची तैयार करने का काम शुरू कर दिया है। अप्रैल से इस वाहन को सड़क से हटाने के लिए कवायद की जाएगी। नई स्क्रैप नीति जिले में अधिकतम दोपहिया को प्रभावित करेगी। परिवहन विभाग के अधिकारियों के अनुसार, दो पहिया वाहनों की संख्या 20 साल पुराने कुल वाहनों के दो-तिहाई से अधिक है।

ये भी देखे :- CM Bhupesh Baghel ने प्रदेश में प्रस्तावित बड़ी औद्योगिक इकाईयों की मॉनिटरिंग हेतु मोबाइल एप लांच किया

हाल ही में, परिवहन विभाग ने 15 साल पुराने वाहनों के पंजीकरण को निलंबित करते हुए, वाहनों को फिर से पंजीकृत करने की अपील की थी। इसके बाद, कई वाहन मालिकों ने पंजीकरण वैधता बढ़ाने के लिए आवेदन किया। किसी सूचना के प्राप्त होने पर लगभग दो हजार ऐसे वाहनों के पंजीकरण भी रद्द कर दिए गए। नई स्क्रैप नीति लागू होते ही बड़ी संख्या में पुराने वाहनों को सड़क से हटा दिया जाएगा।

ये भी देखे :- Mobile Data आपके फ़ोन से हैक किया जा सकता है, जानिए फोन को हैकर्स से कैसे बचाएं

माह के अंत तक गाइडलाइन आ जाएगी

बजट में घोषणा के बावजूद, परिवहन विभाग द्वारा अब तक इस संबंध में कोई दिशा-निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं। हालांकि, पुराने वाहनों का डेटा एकत्र करने का काम शुरू किया जा चुका है। महीने के अंत तक दिशानिर्देश आने की उम्मीद है।

ये भी देखे :- आज से भारत आने वाले International travelers को नए नियमों का पालन करना होगा, पूरी गाइडलाइन पढ़ें

पुराने वाहनों से बढ़ता प्रदूषण

सड़क पर चलने वाले पुराने खटारा वाहन भी प्रदूषण का एक प्रमुख कारण हैं। सड़ते हुए हालत में चल रहे इन वाहनों ने भारी मात्रा में धुआं उगल दिया। इसी के चलते NGT ने ऐसे वाहनों को हटाने के लिए भी कहा है।

एआरटीओ प्रशासन आरपी सिंह ने कहा कि अभी तक नई स्क्रैप नीति के बारे में कोई दिशा-निर्देश नहीं मिले हैं। हालांकि, पुराने वाहनों की जानकारी तैयार करने का काम शुरू कर दिया गया है। आदेश मिलते ही पुराने वाहनों का पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा।

ये भी देखे :-  50 लीटर पेट्रोल-डीजल Free मिलेगा, जानिए क्या है ऑफर

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments