Wednesday, April 24, 2024
a

HomeदेशFASTag -केंद्र की बड़ी घोषणा 2 साल में पूरे देश में...

FASTag -केंद्र की बड़ी घोषणा 2 साल में पूरे देश में खत्म हो जाएगी टोल योजना, जानिए सरकार कैसे होगी ठीक

 FASTag – केंद्र की बड़ी घोषणा  2 साल में पूरे देश में खत्म हो जाएगी टोल योजना (Toll scheme) जानिए सरकार कैसे होगी ठीक

 केंद्र सरकार ने देशभर में वाहनों की मुफ्त आवाजाही के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि आने वाले दो वर्षों में भारत को टोल मुक्त बनाया जाएगा। इसके लिए सरकार ने ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) को अंतिम रूप देने का फैसला किया है। गुरुवार को, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि आने वाले दो वर्षों में, वाहनों के टोल  आपके लिंक्ड बैंक खाते से काट लिए जाएंगे।

ये भी देखे :-श्रमिक अब मनरेगा में काम करेंगे, तभी भुगतान प्राप्त होता है, ‘पूर्ण कार्य पूर्ण मूल्य’ अभियान शुरू करें

एसोचैम के साथ बैठक

एसोचैम फाउंडेशन वीक इवेंट में बोलते हुए, नितिन गडकरी ने कहा कि रूसी सरकार की मदद से, हम जल्द ही जीपीएस सिस्टम को अंतिम रूप देंगे, जिसके बाद भारत दो साल में पूरी तरह से टोल मुक्त हो जाएगा। पुराने वाहनों में भी जीपीएस सिस्टम लगा होगा वर्तमान में, देश के सभी वाणिज्यिक वाहन एक ट्रैकिंग प्रणाली से सुसज्जित हैं। साथ ही, सभी पुराने वाहनों में जीपीएस सिस्टम तकनीक लगाने के लिए सरकार तेजी से काम करेगी।

ये भी देखे :-Google, Facebook जैसी कंपनियां अब यूरोप में मनमानी नहीं करेंगी, यह विशेष कानून आ रहा है

टोल से आय बढ़कर 1.34 ट्रिलियन हो जाएगी
जीपीएस तकनीक का उपयोग करने के बाद, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) का टोल  राजस्व पांच वर्षों में बढ़कर 1.34 ट्रिलियन हो सकता है। मंत्री ने कहा, “कल सड़क परिवहन और राजमार्ग और अध्यक्ष, एनएचएआई की उपस्थिति में, टोल संग्रह के लिए जीपीएस तकनीक का उपयोग करके एक प्रस्तुति दी गई थी। हम उम्मीद कर रहे हैं कि अगले पांच वर्षों में हमारी टोल आय 1,34,000 करोड़ रुपये होगी

ये भी पढ़े:- 73,781 करोड़ रुपये के MSP वाले धान, 44 लाख किसानों को लाभ हुआ

एक साल पहले फास्टैग अनिवार्य था
देश भर में वाहनों की मुफ्त आवाजाही करने के लिए सरकार यह विशेष कदम उठा रही है। पिछले एक साल में, केंद्र सरकार ने देश के सभी टोल  प्लाजा पर FASTag को अनिवार्य कर दिया है। फास्टैग की अनिवार्यता के बाद, ईंधन की खपत कम हो गई है। इसके अलावा प्रदूषण को भी नियंत्रित किया गया है।

ये भी देखे: 1 जनवरी से इन सभी स्मार्टफोन्स पर बंद हो जाएगा WhatsApp, कहीं आपका फोन …

कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देता है

इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह उपकरणों के उपयोग ने भी कैशलेस लेनदेन को प्रोत्साहित किया है। इसके साथ ही टोल संग्रह में भी पारदर्शिता देखी गई है। पिछले कुछ महीनों में FASTag का उपयोग काफी बढ़ गया है। नवंबर में जारी एनएचएआई के एक बयान के अनुसार, फास्टैग अब तक कुल टोल संग्रह का लगभग तीन-चौथाई योगदान देता है। वहीं, एक साल पहले ores 70 करोड़ की तुलना में 92 करोड़ था।

ये भी देखे: सरकार के अत्याचारों के खिलाफ संत Baba Ram Singh ने सिंघू बॉर्डर के पास खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली।

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments