Friday, February 23, 2024
a

HomeUncategorizedभारत में Facebook मुद्दा: Facebook ने पूर्वाग्रह पर उठाए गए सवालों को...

भारत में Facebook मुद्दा: Facebook ने पूर्वाग्रह पर उठाए गए सवालों को स्पष्ट किया, कहा- दुनिया में हमारे मानक एक जैसे हैं

भारत में Facebook मुद्दा: Facebook ने पूर्वाग्रह पर उठाए गए सवालों को स्पष्ट किया, कहा- दुनिया में हमारे मानक एक जैसे हैं

न्यूज़ डेस्क :- भारत में सत्तारूढ़ दल के नेताओं पर ढिलाई दिखाने के आरोपों के कारण दबाव में आए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक ने सफाई दी है। फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा है कि यह प्लेटफॉर्म उन पोस्टों के बारे में नियमों की अनदेखी नहीं करता है जो नफरत या हिंसा को बढ़ावा देते हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए समान मानदंड लागू हैं, ताकि किसी भी राजनीतिक दल या अन्य संस्था या इससे जुड़े किसी व्यक्ति को कोई छूट न दी जाए।

फेसबुक के एक प्रवक्ता ने कहा, “हम हिंसा से घृणा फैलाने वाले भाषण और सामग्री पर प्रतिबंध लगाते हैं। हम इन नीतियों को पूरी दुनिया में लागू करते हैं, बिना यह देखे कि किसी की राजनीतिक स्थिति क्या है या वह किस पार्टी से जुड़ा है। हम निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए नियमों को अधिक सुव्यवस्थित बना रहे हैं। सटीकता। इसके अलावा, हम नियमित रूप से हमारी प्रक्रियाओं का ऑडिट करते हैं।

यह भी देखे: Detel Easy इलेक्ट्रिक बाइक केवल 19999 में

अमेरिकी अखबार ने सनसनी मचा दी

अमेरिकी अखबार द वॉल स्ट्रीट जर्नल (डब्ल्यूएसजे) की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फेसबुक ने ‘नफरत फैलाने वाले’ पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई करने में भाजपा नेताओं के खिलाफ ‘जानबूझकर’ काम किया। अख़बार कहता है कि फ़ेसबुक ने बीजेपी और कट्टरपंथी हिंदुओं का ‘पक्ष’ व्यापक योजना के तहत लिया। उनके अनुसार, फेसबुक इंडिया के पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर अनकही दास ने कर्मचारियों से कहा कि ‘बीजेपी नेताओं के पद हटाने से देश में कंपनी के कारोबार पर असर पड़ेगा।’

यह भी देखे:चीन सीमा विवाद पर Rahul के निशाने पर प्रधानमंत्री, कहा- PM Modi को छोड़कर, हर कोई भारतीय सेना की क्षमता और बहादुरी पर भरोसा करता है

रिपोर्ट में भाजपा विधायक टी राजा सिंह की एक पोस्ट का हवाला दिया गया, जिसमें कथित तौर पर अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा की वकालत की गई थी। डब्ल्यूएसजे की रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक के आंतरिक कर्मचारियों ने फैसला किया था कि राजा को ‘खतरनाक व्यक्तियों और संस्थानों’ की नीति के तहत प्रतिबंधित किया जाना चाहिए।

फाइल फोटो राहुल

भारत में बना राजनीतिक मुद्दा

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद, कांग्रेस ने केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधा। इसी रिपोर्ट का हवाला देते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि ‘बीजेपी और आरएसएस भारत में फेसबुक और व्हाट्सएप को नियंत्रित करते हैं। वे फर्जी खबरें फैलाते हैं और इससे नफरत करते हैं और मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं। आखिरकार, अमेरिकी मीडिया फेसबुक के बारे में सच्चाई के साथ सामने आया है। ‘

यह भी देखे: Mahendra Singh Dhoni ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया, प्रशंसकों को झटका

मसला संसदीय समिति तक पहुंचा

देश की सत्तारूढ़ पार्टी के प्रति पूर्वाग्रह का यह मुद्दा इतना गर्म हो गया है कि अब एक संसदीय समिति की ओर से जांच का विषय है। केरल के कांग्रेस सांसद और सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष शशि थरूर ने ट्वीट किया, “मैं इसमें उठाए गए मुद्दों पर गौर करूंगा और जो लोग सामने आए हैं उनसे जवाब मांगेंगे।”

द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने शनिवार को बताया कि फेसबुक में भाजपा विधायक राजा सिंह के पोस्ट हैं जो फेसबुक के सामुदायिक नियमों के खिलाफ हैं। इस रिपोर्ट के प्रकाशित होने के बाद फेसबुक ने राजा सिंह की पोस्ट को हटा दिया।

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments