AAP

दिल्ली की स्थिति पर AAP में असंतोष, विधायक की मांग – राष्ट्रपति शासन लगे

दिल्ली की स्थिति पर AAP में असंतोष, विधायक की मांग – राष्ट्रपति शासन लगे

राजधानी दिल्ली में कोरोना के कहर के कारण, स्थिति प्रत्येक दिन के साथ खराब हो रही है। इस बीच, सत्तारूढ़ पार्टी आम आदमी पार्टी में ही इस संकट के बीच असंतोष के स्वर सुनाई दे रहे हैं। दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की गई है।

राजधानी दिल्ली में कोरोना के कहर के कारण, स्थिति प्रत्येक दिन के साथ खराब हो रही है। अब सत्ताधारी पार्टी आम आदमी पार्टी में इस संकट के बीच असंतोष के स्वर सुनाई दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी के विधायक शोएब इकबाल ने मांग की है कि राजधानी में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए।

दिल्ली के मटिरामहल से विधायक शोएब इकबाल ने कोरोना के कारण दिल्ली में पैदा हुई मौजूदा स्थिति के बारे में यह मांग की है। यही नहीं, उन्होंने उच्च न्यायालय से भी अपील की है कि दिल्ली में फैली अराजकता को देखते हुए अब यहां राष्ट्रपति शासन लगाया जाए।

ये भी देखे:- सावधान! Whatsapp/SMS पर यह फर्जी लिंक लोगों को कंगाल बना रहा है, पढ़ें पूरा मामला

विधायक की शिकायत है कि दिल्ली में मरीजों को न तो दवाइयां मिल रही हैं और न ही अस्पताल में ऑक्सीजन।

“… वरना लाशें सड़कों पर बिछेंगी”

AAP विधायक शोएब इकबाल ने कहा कि मुझे दुख है कि हम किसी की मदद नहीं कर पा रहे हैं, मैं 6 बार से विधायक हूं लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। मैं चाहूंगा कि दिल्ली हाई कोर्ट तुरंत यहां राष्ट्रपति शासन लगा दे, नहीं तो लाशें सड़कों पर बिछाई जाएंगी।

शोएब इकबाल ने कहा कि हमें केंद्र से समर्थन नहीं मिल रहा है, अगर सब कुछ केंद्र के हाथ में आता है, तो काम होगा। दिल्ली में तीन महीने के लिए राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए।

क्लिक करें: AAP नेता राघव चड्ढा ने केंद्र पर निशाना साधा – दिल्ली को वह ऑक्सीजन नहीं मिली जिसकी उसे जरूरत थी

आपको बता दें कि कोरोना की वजह से इस समय दिल्ली में बुरा हाल है। ऑक्सीजन की कमी को लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार के बीच पहले से ही विवाद चल रहा है, लेकिन अब राज्य सरकार के अपने ही सदस्यों ने इस महाकाश को लेकर सवाल उठाए हैं।

ये भी देखे:- WhatsApp को टक्कर देने के लिए Telegram लाया कई धांसू फीचर्स

दिल्ली में स्थिति बेकाबू है, न तो बिस्तर और न ही ऑक्सीजन

कोरोना की इस लहर ने दिल्ली की स्वास्थ्य प्रणाली को उजागर किया है। राजधानी में तमाम संघर्ष के बाद भी न तो अस्पताल को बेड मिल रहे हैं और न ही ऑक्सीजन की व्यवस्था हो रही है। दिल्ली सरकार की वेबसाइट का दावा है कि बेड खाली हैं, लेकिन एक मरीज को जमीन पर बिस्तर लगाने के लिए संघर्ष करना पड़ता है।

स्थिति यह है कि अब तक दिल्ली के कई अस्पतालों ने ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर उच्च न्यायालय का रुख किया है। ऐसे में दिल्ली में लगातार बिगड़ते हालातों के बीच भी जनता त्राहिमाम कर रही है।

दिल्ली में कोरोना की हालत:

• 24 घंटे में कुल मामले: 24,235
• 24 घंटे में कुल मौतें: 395
• एक्टिव केस 97,977
• कुल मामले: 11,22,286
• कुल मौतें: 15,772

ये भी पढ़े:- SBI ने खाताधारकों को किया अलर्ट! यदि यह QR Code स्कैन किया है तो खाता खाली हो जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *