Monday, February 26, 2024
a

Homeदेशक्या रसोई गैस सिलेंडर (Cylinder) पर सब्सिडी वास्तव में बंद हो गई,...

क्या रसोई गैस सिलेंडर (Cylinder) पर सब्सिडी वास्तव में बंद हो गई, आखिरकार केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री ने यह जवाब दिया

क्या रसोई गैस सिलेंडर (Cylinder) पर सब्सिडी वास्तव में बंद हो गई, आखिरकार केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री ने यह जवाब दिया

LPG Cylinder Subsidy : इन दिनों एलपीजी  (LPG) ग्राहकों के मन में एक ही सवाल चल रहा है कि क्या सरकार ने गैस सिलेंडर के साथ सब्सिडी की राशि देना बंद कर दिया है। चूंकि कुछ महीनों से सब्सिडी का पैसा ग्राहकों के खाते में नहीं पहुंचा है, इसलिए कहीं-कहीं बहुत मामूली रकम जमा की गई है। ऐसे में लोग चिंतित हैं कि क्या सरकार ने सब्सिडी योजना बंद कर दी है। अब पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि सरकार ने सब्सिडी देना बंद नहीं किया है। समाचार एजेंसी एएनआई को दिए एक साक्षात्कार में, प्रधान ने कहा, एलपीजी सब्सिडी को रोकने की रिपोर्ट गलत है। हम अभी भी उपभोक्ताओं को सब्सिडी प्रदान कर रहे हैं।

ये भी देखे:- PNB Recruitment 2021:12 वीं पास बिना परीक्षा के पीएनबी में नौकरी पा सकते हैं, बस यह काम करना है

ठंड का मौसम खत्म होते ही रसोई गैस सस्ती हो जाएगी

पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों पर बढ़ती चिंताओं के बीच, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सर्दियों का मौसम खत्म होते ही रसोई गैस की कीमत में कमी आएगी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में, पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत ने भी उपभोक्ताओं को प्रभावित किया है। प्रधान शुक्रवार को नई दिल्ली से वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि यह एक अंतरराष्ट्रीय मामला है। तेल उत्पादक देशों ने कोरोना के कारण उत्पादन कम कर दिया था। उच्च मांग भी रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि का एक कारण है। यह सर्दियों में होता है। जैसे-जैसे सर्दी कम होगी, एलपीजी की कीमतें भी घटेंगी।

14 करोड़ मुफ्त सिलेंडर दिए

उन्होंने कहा कि तालाबंदी के समय प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 14 करोड़ मुफ्त सिलेंडर दिए गए हैं। धर्मेंद्र ने कहा कि पिछले साल केंद्र सरकार ने लोगों की मदद करने और गरीबों को मुफ्त सिलेंडर देने का काम किया है। आज PMUJY गरीब लोगों के कल्याण के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि कोविद -19 महामारी के दौरान पीएम उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों के लिए तीन मुफ्त सिलेंडर (Cylinder) की घोषणा की गई थी। पेट्रोलियम मंत्री ने इस रिपोर्ट का भी खंडन किया कि स्वच्छ खाना पकाने की पहुंच तकनीकी उपलब्धता से परे है। उन्होंने कहा कि सरकार ने विभिन्न योजनाओं के माध्यम से रसोई गैस की उपलब्धता को व्यापक बनाया है।

ये भी देखे:-  आधार कार्डधारक महिलाओं के लिए LIC की विशेष नीति, सुरक्षा मिलेगी बोनस

95 प्रतिशत घरों में एलपीजी कनेक्शन

प्रधान ने कहा कि पीएमयूजेवाई के लगभग 70 प्रतिशत लाभार्थी एलपीजी सिलेंडर रिफिल कर रहे हैं। शेष 30 प्रतिशत अपने सिलेंडर की रिफिलिंग नहीं कर रहे हैं। उन्हें लकड़ी इकट्ठा करने की आदत है। उन्होंने कहा कि वे यह नहीं समझते कि इस दुनिया में कुछ भी मुफ्त नहीं है। धर्मेंद्र ने आगे कहा कि हम उन्हें जागरूक करने की कोशिश कर रहे हैं। आज 95 प्रतिशत घरों में एलपीजी कनेक्शन हैं। हमारा लक्ष्य हर घर को एलपीजी से जोड़ना है।

ये भी देखे :- क्या भारत में Whatsapp  को प्रतिबंधित किया जाएगा, नए सरकारी नियमों से कंपनी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं 

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments