Coronavirus

Coronavirus ने छीनी त्योहार की खुशियां ईद-उल-अजहा (बकरीद) कल

अजमेर( दिलीप शर्मा ) Coronavirus महामारी ने पिछले लगभग 5 महीनों से आमजन का सुख चैन छीन लिया है। आज ईद उलअजहा( बकरीद) का त्योहार है। बिना किसी सार्वजनिक आयोजन के यह त्योहार घरों में ही मनाया जााएग। इस दौरान प्रशासन भी शहर में पूरी नजर बनाए रखेगी।

आज ईद उल अजहा का पर्व है जो मुस्लिम धर्मावलंबी कुर्बानी के पर्व के रूप में मनाते हैं ईद उल अजहा अत्यधिक खुशी, प्रार्थना और अभिवादन करने का त्योहार है। इस दिन सबसे पहले नमाज पढ़ी जाती है नमाज पढ़ने के बाद बकरे की कुर्बानी दी जाती है ।

कुर्बानी का एक हिस्सा गरीबों के लिए रखा जाता है दूसरा दोस्तों व रिश्तेदारों के लिए तथा तीसरा हिस्सा खुद व परिवार वालों ,अन्य सदस्यों के लिए होता है।

मान्यता है कि हजरत इब्राहिम सपने को खुदा का आदेश मानते हुए अपने सबसे प्यारी चीज की कुर्बानी के लिए अपने बेटे को कुर्बान करने जा रहे थे ।कुर्बानी देने के बाद जब अपनी आंखें खोली तो देखा कि उनका बेटा खेल रहा है बेटे को बकरे मे बदल दिया था तब से बकरीद पर कुर्बानी शुरू हो गई

ये भी देखें :- Sushant Singh Rajput की मौत पर Ankita Lokhande ने तोड़ी चुप्पी, बोलीं यह बात

अजमेर रामगंज बकरा मंडी पर भी कोरोना का असर कोरोना संक्रमण की वजह से इस बार बकरीद पर बकरा लेने व बेचने वाले लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है ।

शहर के बकरा मंडी में दूर-दूर से ग्रामीण अपने बकरे बेचने हर बार आते हैं मगर इस बार गिने चुने ही दिख रहे हैं पिछले सालों की तुलना में इस बार बाजार में कुछ भी नहीं है एक व्यापारी के अनुसार पिछले 3 दिन से एक भी बकरा नहीं बिका है तो वही बकरों की कीमत आसमान को छू रहे हैं

Coronavirus
File Photo Eid-ul-Azha (Bakrid)

अजमेर दरगाह कमेटी ने एक बयान जारी कर कहा है कि कोरोना महामारी की वजह से इस साल ईद उल अजहा की नमाज मुस्लिम भाई अपने घरों में 2 रकात चास्त अदा करें। और जिन हजरात पर कुर्बानी वाजिब है वह अपने घरों में कुर्बानी करें ।

साथ ही दरगाह कमेटी के नाजिम शकील अहमद ने बताया कि 1 अगस्त को दरगाह शरीफ में पढ़ी जाने वाली ईद की सामूहिक नमाज दरगाह शरीफ में स्थित मस्जिदों में अदा नहीं की जाएगी।

मुफ्ती ए शहर मोहम्मद बंसीरूल कादनी ने बताया कि कोरोनामहामारी के हालात इज्तेमाई तौर से जब नमाज अदा नहीं कर सकता है तो मुस्लिम भाई सूरज निकलने के 20 मिनट बाद यानी सुबह 6:20 के बाद नमाजे चास्त अदा करके कुर्बानी कर सकते हैं

अजमेर एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने सभी मुस्लिम भाइयों को ईद की बधाई दी है वह साथ ही अपील की है कि वे घरों में ही ईद का पर्व मनाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *