Corona vaccine

Corona vaccine : 300 मिलियन भारतीयों को पहले टीका लगाया जाना है, सरकार ने बनानी शुरू की लिस्‍ट

Corona vaccine : 300 मिलियन भारतीयों को पहले टीका लगाया जाना है, सरकार ने बनानी शुरू की लिस्‍ट

Covid-19 vaccine news: सरकार की योजना वैक्सीन की पहचान करने की है, जो वैक्सीन के स्वीकृत होते ही सबसे पहले टीकाकरण करने वाली हैं। शुरुआती चरणों में लगभग 300 मिलियन लोगों को टीका लगाने की तैयारी की जा रही है।

भारत ने कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान के लिए तैयारी शुरू कर दी है। प्राथमिकता के आधार पर कौन टीका प्राप्त करेगा इसकी सूची तैयार की जा रही है। उच्च जोखिम वाली आबादी के अलावा, स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर, पुलिस, स्वच्छता कार्यकर्ता जैसे फ्रंटलाइन कार्यकर्ता होंगे।

ये भी देखें: Xiaomi के बाद अब Samsung ने Apple का मजाक उड़ाया, जानिए वजह

लगभग 300 मिलियन लोगों के पास 60 मिलियन टीके होंगे। वैक्सीन मंजूर होते ही वैक्सीन शुरू हो जाएगी। प्राथमिकता सूची में चार श्रेणियां हैं – लगभग 50 से 70 लाख स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर, दो करोड़ से अधिक फ्रंटलाइन कार्यकर्ता, लगभग 26 करोड़ लोग 50 वर्ष से अधिक आयु के और ऐसे लोग जो 50 वर्ष से कम आयु के हैं लेकिन अन्य बीमारियों से पीड़ित हैं।

23% आबादी को पहले चरण में टीका लगाया जाएगा

वैक्सीन के बारे में गठित विशेषज्ञ समूह ने योजना का मसौदा तैयार किया है। केंद्रीय एजेंसियों और राज्यों से भी इनपुट लिए गए। NITI Aayog के सदस्य डॉ। वीके पॉल के नेतृत्व में इस समूह द्वारा बनाई गई योजना के अनुसार, पहला चरण देश की आबादी का 23% कवर करेगा।

ये भी देखे :- 100 रुपये के बाद अब PM Modi ने 75 रुपये का सिक्का जारी किया

स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों के लिए वैक्सीन पहली प्राथमिकता

विशेषज्ञ समिति का अनुमान है कि देश में सरकारी और निजी क्षेत्रों सहित लगभग सात मिलियन स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारी हैं। इसमें 11 लाख एमबीबीएस डॉक्टर, 8 लाख आयुष चिकित्सक, 15 लाख नर्स, 7 लाख एएनएम और 10 लाख एसएचएआई कार्यकर्ता शामिल हैं। एक अधिकारी ने हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि सूची अक्टूबर के अंत या नवंबर की शुरुआत तक तैयार हो सकती है।

ये भी देखे :- 15 महीनों में 36.53 लाख रुपये बढ़ी PM की संपत्ति, जानिए देश के प्रमुख कहां जमा करते हैं अपना पैसा?

और कोरोना वैक्सीन पहले किसे मिलेगी?

मसौदा योजना में 45 लाख पुलिस और अन्य बल के कर्मचारी भी शामिल हैं। 1.5 मिलियन आर्मी मैन भी इस लिस्ट में हैं। इसके अलावा, सामुदायिक सेवा – सार्वजनिक परिवहन ड्राइवर, क्लीनर और शिक्षकों की भी पहचान की गई है। उनकी अनुमानित संख्या लगभग 1.5 करोड़ है। पहले चरण में 50 वर्ष से अधिक आयु के लगभग 26 करोड़ लोगों को भी टीका लगाया जाएगा। इसके अलावा, मधुमेह, हृदय रोग, गुर्दे की विफलता, फेफड़ों की बीमारी, कैंसर, जिगर की बीमारी का सामना करने वाले लोगों को भी प्राथमिकता के आधार पर टीके मिलेंगे।

ये भी देखे :- Google Play Store से 240 ऐप  की छुट्टी, यहां पूरी सूची देखें और इसे अपने फोन से तुरंत हटायें

60 करोड़ खुराक की जरूरत होगी

एक अधिकारी के अनुसार, कई श्रेणियों में ओवरलैपिंग होगी। सरकार को उम्मीद है कि प्राथमिकता वाली आबादी के लिए टीकाकरण की 60 मिलियन खुराक की जरूरत होगी। यह योजना वैक्सीन के स्टॉक की स्थिति, स्टोर सुविधा में तापमान, जियोटैग स्वास्थ्य केंद्रों पर नज़र रखने के लिए भी प्रदान करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *