CM Shivraj

CM Shivraj का फैसला मूल निवासी को मिलेगी सरकारी नौकरी

CM Shivraj का बड़ा फैसला, मध्यप्रदेश मूल निवासी के बच्चों को ही मिलेगी सरकारी नौकरी

न्यूज़ डेस्क :- शिवराज सरकार ने मध्य प्रदेश के बच्चों के लिए बड़ा तोहफा दिया है। अब केवल मध्य प्रदेश के बच्चों को ही सरकारी नौकरी मिलेगी। अन्य राज्यों के आवेदकों को किसी भी प्रकार की सरकारी नौकरी में वरीयता नहीं दी जाएगी। सीएम शिवराज ने बैठक में इसकी घोषणा की।

भोपाल: मध्य प्रदेश के बच्चों के लिए शिवराज सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। अब केवल मध्य प्रदेश के बच्चों को ही सरकारी नौकरी मिलेगी। अन्य राज्यों के आवेदकों को किसी भी प्रकार की सरकारी नौकरी में वरीयता नहीं दी जाएगी।

सीएम शिवराज ने बैठक में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि इसके लिए आवश्यक कानून बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश के संसाधन मध्य प्रदेश के बच्चों के लिए हैं। इसलिए सरकारी नौकरी भी उनका अधिकार होना चाहिए।

CM Shivraj
File Photo CM Shivraj

ये भी देखें:- तुर्की की फर्स्ट लेडी से Aamir Khan की मुलाकात पर बवाल

सीएम शिवराज ने कहा कि आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से, 15 अगस्त 2020 को अपने संबोधन में की गई घोषणाओं के कार्यान्वयन के संबंध में मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की गई और आवश्यक निर्देश दिए।

मेरे प्यारे लोगों, हमारे भतीजों के हितों को ध्यान में रखते हुए, हमने तय किया है कि मध्य प्रदेश में सरकारी नौकरी अब केवल मध्य प्रदेश के बच्चों को दी जाएगी।

इसके लिए आवश्यक कानूनी प्रावधान किया जा रहा है। राज्य के संसाधनों पर राज्य के बच्चों का अधिकार है!

वीडी शर्मा ने फैसले का स्वागत किया

इस फैसले पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के फैसले को ऐतिहासिक बताया है। उन्होंने कहा कि सरकार का यह फैसला स्वागत योग्य है। वीडी शर्मा ने कहा कि इस फैसले के कारण मध्य प्रदेश के सैनिकों में भारी उत्साह है। मैं मुख्यमंत्री की पूरी सरकार और कैबिनेट को बधाई देता हूं।

ये भी देखें:- Amit Shah AIIMS में भर्ती, हाल में ही कोरोना से हुए थे ठीक

CM Shivraj
File Photo CM Shivraj

दिग्विजय सिंह ने की मांग

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान से मांग की थी कि मध्य प्रदेश के युवाओं को मध्य प्रदेश में सरकारी सेवाओं में शामिल किया जाए।

उन्होंने कहा था कि संकट की अवधि में युवा बेरोजगार हो रहे हैं। कांग्रेस मांग करती है कि मध्यप्रदेश में केवल सरकारी नौकरी पाने वालों ने ही 10 वीं कक्षा की परीक्षा पास की है।

दिग्विजय सिंह ने कहा था कि उन्होंने अपने कार्यकाल में युवाओं की मदद करने के लिए एक नियम बनाया था कि वे ऐसे बच्चों को सरकारी नौकरी देंगे जो 10 वीं और 12 वीं पास कर चुके हैं। लेकिन भाजपा ने इस नियम को बदल दिया था।

ये भी देखें:- राष्ट्रपति, PM ने Pandit Jasraj की मृत्यु पर दुख व्यक्त किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *