PM Modi

चीन PM Modi, राष्ट्रपति और CJI सहित 10 हजार भारतीयों की जासूसी कर रहा

चीन PM Modi, राष्ट्रपति और CJI सहित 10 हजार भारतीयों की जासूसी कर रहा है

News Desk: भारत में चीन की जासूसी को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। चीन एलएसी के साथ-साथ भारत के खिलाफ एक डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी साजिश रच रहा है। इसके तहत प्रधानमंत्री से लेकर केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री से लेकर सेना के अधिकारी और आला अफसर से लेकर कारोबारी तक हर कोई उनके निशाने पर है।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, चीन भारत में बड़े संवैधानिक पदों और रणनीतिक पदों पर अधिकारियों में राजनेताओं पर जासूसी कर रहा है।

अखबार ने दावा किया है कि चीनी कंपनी शेनजान भारत में लगभग दस हजार लोगों पर नजर रखती है। इस कंपनी का चीन की सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना से सीधा संबंध है। इस चीनी कंपनी की नज़र प्रधानमंत्री से लेकर मेयर तक लगभग दस हज़ार भारतीयों पर है।

ये भी देखे:-गरीब बच्चों को मुफ्त में शिक्षा प्रदान करने के लिए Sonu Sood ने माँ के नाम पर छात्रवृत्ति शुरू की

PM Modi
file photo spying China

जिसमें देश के कई बड़े लोगों के नाम शामिल थे

जिन भारतीयों की देखरेख में झेंझुआ डेटा इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी, भारत के मुख्य न्यायाधीश, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, गांधी परिवार, ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे, नवीन पटनायक शामिल हैं, उनमें से कई बड़े हैं। नेता, केंद्रीय मंत्री जैसे राजनाथ सिंह-पीयूष गोयल, सीडीएस बिपिन रावत सहित सेना के अधिकारी। यह पता चला है कि चीन लगभग 1350 लोगों की जासूसी कर रहा है। राजनेताओं के अलावा, सचिन तेंदुलकर, गौतम अडानी जैसे व्यवसायी, फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल, सोनल मानसिंह, राधे मां जैसे खिलाड़ी भी चीन पर नज़र गड़ाए हुए हैं।

ये भी देखे:-Rhea Chakraborty ने दिया बयान, ड्रग एंगल में 25 नाम लिए, सारा अली खान और रकुलप्रीत सिंह भी हैं शामिल

कंपनी को चीनी सरकार के साथ मिल गया है

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस पूरी जाँच के लिए चीन सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के साथ मिलकर ज़ेनहुआ ​​इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी फ़र्म ने एक ओवरसीज़ इन्फ़ॉर्मेशन डेटा बेस बनाया है, जिसके तहत इस मिशन का पूरा काम किया जाता है। कंपनी द्वारा एकत्रित किए जा रहे इस डेटा को चीनी कंपनियों द्वारा हाइब्रिड वॉर कहा जाता है, जो इसे किसी के बारे में जानकारी इकट्ठा करने के लिए एक मिशन बनाता है। एक ओर जहां चीन भारत में घुसपैठ कर एलएसी पर युद्ध भड़काने की कोशिश कर रहा है, वहीं दूसरी ओर वह बड़े नेताओं से लेकर अफसरों तक पर नजर रखे हुए है।

ये भी देखें:-Ram जन्मभूमि ट्रस्ट के खाते से 6 लाख की धोखाधड़ी

चीन इन लोगों की जासूसी कर रहा है

वर्तमान प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी
सीडीएस बिपिन रावत
भारत के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे
24 सी.एम.
16 पूर्व मुख्यमंत्री
350 एमपी
70 मेयर

ये भी देखें:-दुश्मनों का ‘काल’ Rafale , वायुसेना में शामिल, जानें इसकी खासियतें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *