CBSE

CBSE Exam Pattern 2021: सीबीएसई ने कक्षा 10 वीं और 12 वीं के परीक्षा पैटर्न में महत्वपूर्ण बदलाव किए, विस्तार से पढ़ें

CBSE Exam Pattern 2021: सीबीएसई ने कक्षा 10 वीं और 12 वीं के परीक्षा पैटर्न में महत्वपूर्ण बदलाव किए, विस्तार से पढ़ें

CBSE Exam Pattern Changes 2021: CBSE ने कक्षा 10 वीं और 12 वीं के परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया है। यह परिवर्तन इस सत्र से यानी शैक्षणिक सत्र 2020-21 से लागू होगा। परीक्षा के पैटर्न में हुए इस बदलाव को सैंपल पेपर से चेक किया जा सकता है। जिसे आधिकारिक वेबसाइट पर नमूना पत्र के माध्यम से जांचा जा सकता है।

इस बदलाव के अनुसार, सीबीएसई के 10 वीं के हिंदी विषय में केवल दो प्रश्न रहेंगे। पहले खंड में केवल वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होंगे जबकि दूसरे खंड में लघु और दीर्घ उत्तरीय प्रश्न पूछे जाएंगे। अब तक हिंदी में चार खंडों में प्रश्न पूछे जाते थे। हिंदी के पहले खंड में 40 अंक और दूसरे खंड में 40 अंक होंगे।

ये भी देखे :- Rajasthan: सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा दिवाली का तोहफा, बोनस, स्वैच्छिक वेतन में कटौती

सीबीएसई (CBSE) ने भी कक्षा 12 के अंग्रेजी विषय में इसी तरह के बदलाव किए हैं। अब तक, अंग्रेजी में तीन खंडों में प्रश्न पूछे गए थे। लेकिन अब प्रश्न दो खंडों में पूछे जाएंगे। पहले खंड में बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न होंगे और दूसरे खंड में लघु और दीर्घ उत्तरीय प्रश्न होंगे। सीबीएसई बोर्ड ने सत्र 2021 परीक्षा के लिए यह बदलाव किया है।

इसके अलावा, 12 वीं के जीव विज्ञान के पेपर में पांच के बजाय चार भाग होंगे। साथ में, प्रश्नों की संख्या 27 से बढ़ाकर 33 कर दी गई है। इस तरह, मनोविज्ञान में वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की संख्या इस वर्ष 17 से बढ़ाकर 21 कर दी गई है।

ये भी देखे :- Dhanteras 2020 : अगर आप धनतेरस पर सोना और चांदी नहीं खरीद सकते हैं, तो लायें ये पांच चीजे, मां लक्ष्मी अपार संपत्ति से भर देंगी घर

इसी तरह, CBSE बोर्ड ने कला संकाय के कई विषयों में प्रश्न पत्रों की संख्या कम कर दी है। इस बार बोर्ड के कक्षा 12 में बहुविकल्पीय प्रश्नों की संख्या 18 से बदलकर 15 कर दी गई है। इनमें से केवल 14 प्रश्नों का उत्तर देना है। परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि सैंपल पेपर से बदलाव के बारे में जानकारी दी गई है।

ये भी देखे :- अमेरिका में Joe Biden (जो बिडेन) राज, 5 लाख भारतीयों को मिलेगा नागरिकता लाभ!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *