Monday, February 26, 2024
a

Homeटेक ज्ञानबड़ी खबर! RBI ने Google Pay, Amazon Pay के संबंध में कोर्ट...

बड़ी खबर! RBI ने Google Pay, Amazon Pay के संबंध में कोर्ट में यह बात कही

बड़ी खबर! RBI ने Google Pay, Amazon Pay के संबंध में कोर्ट में यह बात कही

न्यूज़ डेस्क:- RBI ने कहा कि भारत के वित्तीय क्षेत्र  में सक्रिय फेसबुक (Facebook), गूगल (Google) और एमेजॉन (Amazon) जैसी कंपनियों को प्रासंगिक कानूनों के साथ नियमन किया जा रहा है।

भारत के वित्तीय क्षेत्र में कार्यरत फेसबुक (Facebook) गूगल (Google) और एमेजॉन (Amazon) जैसी वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनियों को प्रासंगिक कानूनों के तहत नियमन किया जा रहा है। उन्हें आवश्यक अनुपालन के बाद ही संचालित करने की मंजूरी दी गई है।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने दिल्ली उच्च न्यायालय को यह जानकारी दी। बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (Sebi) ने भी उच्च न्यायालय में सुनवाई के दौरान ऐसी ही बातें कही। सेबी ने कहा कि किसी भी निकाय के लिए प्रतिभूति बाजार में प्रवेश के लिए अनिवार्य पंजीकरण के लिए पर्याप्त प्रावधान हैं।

ये भी देखे:- कोरोना वायरस (Corona virus) ने दुनिया को नष्ट किया? WHO की टीम जवाब की तलाश में वुहान पहुंची

सेबी ने कहा कि उसने प्रतिभूतियों के बाजारों के नियमों को प्राप्त करने के लिए एक बाजार डेटा सलाहकार समिति का गठन किया है, डेटा की गुंजाइश की पहचान, खंड-वार डेटा, आवश्यकताओं और खामियों और सूचनाओं की गोपनीयता के बारे में सुझाव और जानकारी तक पहुंच के बारे में RBI और SEBI ने ये बातें कहीं।

जनहित याचिका (PIL) पर सुनवाई। पीआईएल भारतीय वित्तीय बाजार में काम करने के लिए फेसबुक, गूगल और अमेज़ॅन जैसी वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनियों के लिए विधायी ढांचे पर विस्तृत जानकारी के लिए कहता है।

ये भी देखे:- Gehlot सरकार अब 5 से 1.10 करोड़ परिवारों को मुफ्त इलाज देगी

NPCI के तहत यूपीआई

RBI ने कहा कि यह पूरी तरह से यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के संचालन के संबंध में किसी भी निकाय को मंजूरी देने के लिए भारत के राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) के अधिकार क्षेत्र के भीतर है। यह NPCI है जो UPI भुगतानों की निगरानी से संबंधित नियम, दिशानिर्देश और प्रक्रिया बनाती है।

आरबीआई ने रेशमी पी भास्करन द्वारा दायर जनहित याचिका के जवाब में कहा, एनपीसीआई ने यूपीआई के एकल प्रायोजक बैंक मॉडल के तहत तीसरे पक्ष के ऐप प्रदाता के रूप में अमेज़न काम किया है और उपयुक्त मानदंडों के आधार पर मल्टी बैंक मॉडल के तहत Google और व्हाट्सएप। की अनुमति है।

ये भी देखे :- सोनू सूद हुए  Mi India के ShikshaHarHaath अभियान में शामिल 

भास्करन ने वकील दीपक प्रकाश के माध्यम से दायर अपनी याचिका में आरोप लगाया कि भारतीय वित्तीय नियामकों के त्रुटिपूर्ण दृष्टिकोण ने वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनियों के अनियमित संचालन की अनुमति दी। उन्होंने दावा किया कि इससे देश की वित्तीय स्थिरता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

ये भी देखे :- World economic फोरम समिट में पीएम नरेंद्र ( PM Narendra) मोदी ने की घोषणा 

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments