Tuesday, May 21, 2024
a

Homeटेक ज्ञानWhatsApp यूजर्स के लिए बड़ी खबर, प्राइवेसी पॉलिसी की डेडलाइन पर कंपनी...

WhatsApp यूजर्स के लिए बड़ी खबर, प्राइवेसी पॉलिसी की डेडलाइन पर कंपनी पीछे हटी

WhatsApp यूजर्स के लिए बड़ी खबर, प्राइवेसी पॉलिसी की डेडलाइन पर कंपनी पीछे हटी

टेक डेस्क:- 15 मई तक, जो उपयोगकर्ता गोपनीयता नीति को स्वीकार नहीं करते हैं, उनके खाते बंद नहीं होंगे। WhatsApp यूजर्स के लिए राहत की खबर है। कंपनी ने गोपनीयता नीति के लिए 15 मई की समय सीमा निकाल दी है। यानी जो यूजर 15 मई तक प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करेंगे, उनके अकाउंट बंद नहीं होंगे। व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर काफी विवाद हुआ था।

इसे यूजर्स की निजता पर हमला कहा जा रहा था। विवाद बढ़ने पर कंपनी भी बैकफुट पर थी, यही वजह है कि कंपनी ने समय सीमा वापस लेने का फैसला किया। पीटीआई को दिए गए एक बयान में, कंपनी ने कहा कि इस अपडेट के कारण भारत में कोई खाता नहीं हटाया जाएगा, और न ही भारत में किसी को इसके कारण व्हाट्सएप का उपयोग करने से रोका जाएगा। हालांकि, कंपनी ने यह नहीं बताया कि समय सीमा निकालने का फैसला क्यों लिया गया है।

ये भी देखे:- Corona की दूसरी लहर में, सरकार ने बड़ी राहत दी, पेंशन धारकों को एक साल के लिए अस्थायी पेंशन भुगतान बढ़ाया गया।

मार्च के महीने में, प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने व्हाट्सएप की नई गोपनीयता नीति की जांच के लिए अपने महानिदेशालय को निर्देश दिया। आदेश देते समय, CCI ने कहा था कि पॉलिसी को अपडेट करने के नाम पर, WhatsApp ने अपने ‘शोषक और भेदभावपूर्ण’ व्यवहार के माध्यम से प्राइमा फेशिआई ने प्रतिस्पर्धा कानून के प्रावधानों का उल्लंघन किया था।

आयोग ने इस मामले में मीडिया रिपोर्टों के आधार पर स्वत: संज्ञान लेते हुए व्हाट्सएप एलएलसी और इसकी मूल कंपनी फेसबुक के खिलाफ आदेश दिया है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने भी इस नीति को लेकर सख्त टिप्पणियां की हैं।

हालांकि, WhatsApp ने कहा कि 2021 अपडेट ने फेसबुक के साथ अपनी डेटा-शेयरिंग क्षमता को नहीं बढ़ाया। इसका उद्देश्य व्हाट्सएप द्वारा एकत्रित डेटा, उसके उपयोग और साझाकरण में अधिक पारदर्शिता लाना है। हालांकि, सीसीआई ने स्पष्ट किया है कि कंपनी के ऐसे दावों की पुष्टि डीजी की जांच के बाद ही की जा सकती है।

आयोग ने कहा कि उपयोगकर्ता अपने व्यक्तिगत डेटा के स्वामी हैं। उन्हें यह जानने का हर अधिकार है कि व्हाट्सएप का उद्देश्य अन्य फेसबुक कंपनियों को ऐसी जानकारी साझा करना है।

ये भी देखे:- Coronavirus: Oxygen की कमी पर घबराओ मत, सरकार घर पर Cylinder पहुंचाएगी; ऐसे पंजीकरण करें

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments