Monday, February 26, 2024
a

Homeटेक ज्ञानPaytm, PhonePe-Mobikwik और Amazon Pay के उपयोगकर्ताओं के लिए बड़ी खबर, 24...

Paytm, PhonePe-Mobikwik और Amazon Pay के उपयोगकर्ताओं के लिए बड़ी खबर, 24 घंटे में तीन बड़े फैसले

Paytm, PhonePe-Mobikwik और Amazon Pay के उपयोगकर्ताओं के लिए बड़ी खबर, 24 घंटे में तीन बड़े फैसले

RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने डिजिटल पेमेंट वॉलेट (Paytm, PhonePe-Mobikwik, और Amazon Pay) के उपयोगकर्ताओं के लिए कई घोषणाएँ की हैं। आइए जानते हैं सब कुछ …

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को क्रेडिट पॉलिसी के बाद कई नई घोषणाएं की हैं। इनमें से कुछ घोषणाएं डिजिटल पेमेंट वॉलेट्स (पेटीएम, फोनपे-मोबिक्विक और अमेज़ॅन पे) के उपयोगकर्ताओं के लिए भी हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में सबकुछ

(1) आप जल्द ही बिना किसी बाधा के एक डिजिटल वॉलेट से दूसरे में पैसे ट्रांसफर कर पाएंगे। इसका सेवा प्रदाता से कोई लेना-देना नहीं होगा। यह अलग बात है कि UPI के जरिए आप बैंक खाते से जुड़े वॉलेट के जरिए पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। यह वॉलेट-टू-बैंक या बैंक-टू-वॉलेट या बैंक-टू-बैंक ट्रांसफर की तरह काम करता है। एक बार जब RBI का अंतर-प्रस्ताव प्रस्ताव लागू हो जाता है, तो आप विभिन्न वॉलेट्स में पैसे ट्रांसफर कर पाएंगे। उदाहरण के लिए, पेटीएम के उपयोगकर्ता PhonePe वॉलेट के उपयोगकर्ता को धन हस्तांतरित करने में सक्षम होंगे।

ये भी देखे :- Aadhar card से लिंक मोबाइल नंबर भूल गए हैं तो ऐसें अपडेट करे, ये आसान तरीका आपकी मदद करेगा

PPI इंस्ट्रूमेंट्स जैसे डिजिटल वॉलेट स्टोर वैल्यू पर सामान और सेवाओं की खरीद की सुविधा प्रदान करते हैं। RBI की वेबसाइट के अनुसार, तीन प्रकार के PPI उपकरण हैं। इनमें क्लोज्ड सिस्टम PPI, सेमी-क्लोज्ड सिस्टम PPI और ओपन सिस्टम PPI शामिल हैं। देश में Paytm, Mobikwik, Payu, आदि अर्ध-बंद जेबों में आते हैं। नकद निकासी की अनुमति केवल खुली प्रणाली पीपीआई के साथ है। इनमें डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड शामिल हैं।

(2) आप जल्द ही पेटीएम, मोबिक्विक और गैर-बैंक संस्थाओं के प्रीपेड कार्ड जैसे डिजिटल वॉलेट से नकदी निकाल सकेंगे। उसने कहा है कि वह गैर-बैंक संस्थाओं से नकदी निकालने की अनुमति देगा। शर्त यह है कि ग्राहक ने केवाईसी प्रक्रिया पूरी कर ली है। वर्तमान में, बैंकों से जारी केवल केवाईसी-अनुपालन पीपीआई (क्रेडिट / डेबिट कार्ड) के लिए नकद निकासी की अनुमति है। पीपीआई एक प्रीपेड भुगतान साधन को संदर्भित करता है। विदेशी मुद्रा कार्ड, डिजिटल वॉलेट आदि पीपीआई के कुछ उदाहरण हैं।

ये भी पढ़े:- इन 5 योजनाओं में निवेश करें ! मुनाफा दोगुना होगा, tax की भी बचत होगी

(3) जल्द ही बैंकों के अलावा, अन्य वित्तीय संस्थान भी RTGS और National Electronic Funds Transfer (NEFT) की सुविधा प्रदान करेंगे। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इसकी घोषणा की है। डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए, फिनटेक और पेमेंट बैंक जैसे गैर-बैंक आरटीजीएस और एनईएफटी सुविधाओं की पेशकश कर सकते हैं। अब तक, यह सुविधा केवल बैंकों में उपलब्ध थी।

ये भी देखे :-  Google Pay, Paytm और PhonePe को  मिलेगी जबरदस्त टक्कर, आ रहा है नया OnePlus भुगतान ऐप

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments