CM ASHOK GEHLOT

बसपा के नाराज़ विधायक बीती रात पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ( CM ASHOK GEHLOT)के निवास स्थान पर

audio
Voiced by Amazon Polly
63 / 100

राजस्थान के राज्य चुनाव के उपलक्ष में नाराज़ सभी बसपा विधायक कल रात को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निवास पर पहुंचे | उनसे मुलाकात तथा आश्वासन मिलने के बाद सभी बसपा विधायकों की नाराज़गी दूर हुई |

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी विधायकों को ये आश्वासन दिया कि उनके सम्मान को बरकरार रखा जायेगा |

सम्भवतः आज सभी बसपा के विधायक बाड़ेबंदी में जा सकते हैं | कांग्रेस के पास अब 126 विधायक शेष है |

यह भी पढ़े:- नई पीढ़ी की Mahindra Scorpio सड़क पर एक अलग अंदाज में दिखेगी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( CM ASHOK GEHLOT) ने 6 विधायकों को मुख्य सलाहकार के रूप में नियुक्त किया हुआ है
जिसमें विधायक डॉ जितेंद्र सिंह, विधायक बाबूलाल नागर, विधायक राजकुमार शर्मा, विधायक संयम लोढ़ा, विधायक रामकेश मीणा और विधायक दानिश अबरार शामिल अपनी भूमिका निभा रहें हैं |
सबसे अधिक महत्वपूर्ण भूमिका में आया नाम आरटीडीसी चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़ है |

बसपा के मंत्री राजेंद्र गूढ़ा तथा 6 विधायक की नाराज़गी :-

कांग्रेस के विधायकों को उदयपूर भेज दिया गया था परंतु बसपा के राजेंद्र गूढ़ा सहित 6 विधायकों ने अपने कार्य की अनदेखी बताकर मना कर दिया था |
इन विधायकों में से केवल एक दीपचंद खैरिया उदयपुर गए थे मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने पूरी तरह नाराजगी जताई थी,उन्होंने कहा कि ये बात बिल्कुल ठीक है कि हमारे साथियों को जो सम्मान मिलना चाहिए था वो नहीं मिला और इस बात से ही हमें दिक्कत है!
उन्होंने प्रदेश प्रभारी अजय माकन के कमिटमेंट को याद करते हुए कहा – जो उन्होंने कमिटमेंट किया वो अब तक निभाया नहीं गया,अब भी वो सुप्रीम कोर्ट के केस झेल रहे हैं,हमारी सदस्यता जाएगी या रहेगी यह भी पता नहीं लेकिन हम इन बातों की परवाह नहीं करते और अपने क्षेत्र की जनता के भले के लिए सरकार के साथ हैं!
उनका कहना है कि उदयपुर भले ही घूमने के लिए अच्छी जगह हो सकती है परंतु वो बंद होने के लिए अच्छी जगह नहीं है, वे बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए साथी दीपचंद खैरिया से भी कुछ नाराज़ दिखाई दिये ,बोले- दीपचंद खैरिया की उम्र 80 साल से ज्यादा हो चुकी है बच्चे और उम्र दराज लोगों का मन एक जैसा होता है उन्हें होटल में जाकर खुशी होती है इसलिए दीपचंद खैरिया होटल में जा चुके हैं
राजेंद्र गुढ़ा ने नाराज़गी दिखाते हुए यह भी कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोलते बहुत ज्यादा है कि ये किया वो किया लेकिन वो केवल मीडिया में बोलते हैं इसके बजाए अगर वो हमारे साथ बैठकर चिंता करते तो ज्यादा बेहतर होता!

यह भी पढ़े:- भारत में लॉन्च हुआ Jeep Compass Night Eagle edition , अब बढ़ेगा ड्राइविंग का मजा

धर्मेन्द्र सिंह ने विधायकों में फिर बनाया विश्वास :-

इस सारे घटना क्रम पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विश्वसनीय धर्मेंद्र सिंह राठौड़ लगातार नजर बनाए हुए थे, वे लगातार बसपा विधायकों के संपर्क में थे।

राठौड़ मुख्यमंत्री ( CM ASHOK GEHLOT) तथा बसपा विधायकों के बीच सामंजस्य बैठाने का कार्य कर रहे थे, वे एक बार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की हनुमान बन कर उभरे, उन्हीं की मेहनत का नतीजा था कि बसपा विधायक वापस मुख्यमंत्री के खेमे में लौट आए तथा उन्होंने कांग्रेस तथा मुख्यमंत्री में विश्वास बनाया |

आपको बताया जाये खुद धर्मेंद्र राठौड़ भी राज्य सभा सांसद की आवभगत में है
पिछले बीते दिनों राज्य सरकार द्वारा की गई राजनीतिक नियुक्तियों में वरिष्ठ कांग्रेस राजनेता धर्मेंद्र राठौड़ को पर्यटन निगम के अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई थी!
राजस्थान में राजनीतिक संकट के समय धर्मेन्द्र राठौड़ के घर पर इनकम टैक्स के छापे पड़े थे, जिसका कारण बताया जा रहा था कि राठौड़ गहलोत के करीबी है |

यह भी पढ़े:- Bolero का नया अवतार देगा स्कॉर्पियो को कड़ी टक्कर, दमदार फीचर्स के साथ जल्द होने वाली है लॉन्च

यह भी पढ़े:- Mahindra Thar : पैनोरमिक सनरूफ के साथ भारत की पहली थार

यह भी पढ़िए | भारत में लॉन्च  Jeep Meridian SUV, मिलेंगे कई शानदार फीचर्स

यह भी पढ़े :- जबरदस्त अंदाज में होगी नई Mahindra Scorpio की एंट्री, इसी महीने लॉन्च होगी SUV

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़  के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े

Leave a Reply

Your email address will not be published.