Wednesday, June 12, 2024
a

Homeटेक ज्ञानJodhpur के युवा इंजीनियर का कमाल, जो मास्क नहीं पहने हैं, सॉफ्टवेयर...

Jodhpur के युवा इंजीनियर का कमाल, जो मास्क नहीं पहने हैं, सॉफ्टवेयर से पकड़े जाएंगे

Jodhpur के युवा इंजीनियर का कमाल, जो मास्क नहीं पहने हैं, सॉफ्टवेयर से पकड़े जाएंगे

इनोवेशन: Jodhpur (जोधपुर)  के एक युवा इंजीनियर ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर डिजाइन किया है, जिसकी मदद से मास्क नहीं पहनने वाले व्यक्ति को भीड़ में आसानी से पहचाना जा सकेगा।

जोधपुर देश में कोरोना संक्रमण (COVID-19) के लगातार प्रसार के बावजूद, लोग इसे रोकने के लिए जारी किए गए दिशानिर्देश का पालन नहीं कर रहे हैं। सरकार के सभी प्रयासों के बावजूद, लोग मास्क लगाने और सामाजिक दूरी बनाए रखने में बहुत सावधानी बरत रहे हैं।

इस बीच, जोधपुर के एक युवा ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाया है जिसके माध्यम से जो लोग मास्क नहीं पहनते हैं उन्हें भीड़ में आसानी से पहचाना जा सकता है। इस युवा इंजीनियर की क्षमता को देखकर, जोधपुर पुलिस आयुक्त ने उसे बुलाया और इस सॉफ्टवेयर को देखा। अब जल्द ही जोधपुर पुलिस अभय कमांड के कैमरे से इस सॉफ्टवेयर को जोड़कर बिना मास्क के घूम रहे लोगों पर लगाम लगाने की तैयारी कर रही है।

ये भी देखे:- रायपुर : CM ने 3.18 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित सूरजपुर के हाईटेक बस स्टैंड का किया लोकार्पण

बिट्स हैदराबाद से इंजीनियरिंग कर रहे Jodhpur के छात्र रोहन दुबे ने फेस मास्क का पता लगाने के लिए सॉफ्टवेयर विकसित किया है जो कोरोना से बचाव के लिए सबसे कारगर साबित हो रहा है। इस सॉफ्टवेयर के जरिए, भीड़-भाड़ वाले इलाकों में भी, कैमरे की मदद से यह पता लगाया जा सकता है कि कितने लोगों ने मास्क पहने हैं और कितने लोगों ने नहीं। इसके आधार पर मास्क नहीं पहनने वालों का ई-चालान भी काटा जा सकता है। उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेजकर उनसे इसका डेमो देने का अनुरोध किया है।

मास्क संक्रमण को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण तरीका है

कोरोना अवधि के दौरान कॉलेज बंद होने के कारण, रोहन इन दिनों जोधपुर में अपने घर पर ऑनलाइन अध्ययन कर रहा है। रोहन ने कहा कि कोरोना को संक्रमण से बचाने का सबसे महत्वपूर्ण तरीका मुखौटा है। केंद्र और राज्य सरकारें बार-बार लोगों से मास्क पहनने की अपील कर रही हैं। वहीं, मास्क न पहनने वालों से भी जुर्माना वसूला जा रहा है। ताकि लोग जागरूक हो जाएं और बाहर जाते समय वे हर समय मास्क पहने रहें।

ये भी देखे: Ram Mandir की नींव का परीक्षण किया गया: अयोध्या में परीक्षण के दौरान स्तंभ 5 इंच धंसा, क्योंकि वहां 200 फीट नीचे रेत की परत है

अभय ने आगे की पढ़ाई के लिए कमांड टीम भेजी है

जोधपुर ट्रैफिक पुलिस ने शहर में कई स्थानों पर उच्च गुणवत्ता वाले कैमरे लगाए हैं। इनके जरिए ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले ड्राइवरों के ई-चालान काटे जाते हैं। इस सॉफ्टवेयर को पुलिस नियंत्रण कक्ष में स्थापित अभय कमांड में जोड़कर, यह बिना मास्क के सड़कों पर घूम रहे लोगों को चिह्नित करेगा। इस बीच, पुलिस कमिश्नर जोस मोहन ने डीसीपी ट्रैफिक राजेश मीणा के साथ मिलकर रोहन दुबे को पुलिस कमिश्नर के दफ्तर में बुलाया और न केवल इस सॉफ्टवेयर को देखा बल्कि अध्ययन करने के लिए अभय कमांड टीम को आगे किया।

यह सॉफ्टवेयर बिना मास्क के लाल रंग में दिखाई देगा

पुलिस आयुक्त जोस मोहन ने बताया कि यह सॉफ्टवेयर उन लोगों को दिखाता है जो कंप्यूटर स्क्रीन पर लाल रंग के मास्क पहने बिना भीड़ में चल रहे हैं। दूसरी ओर, मास्क पहनने वाले उन्हें हरे रंग में दिखाएंगे। इतना ही नहीं, यह सॉफ्टवेयर उन लोगों को भी पहचानता है जो सही तरीके से मास्क नहीं पहन रहे हैं। उन्होंने रोहन दुबे की प्रशंसा की और विश्वास व्यक्त किया कि यदि यह सॉफ्टवेयर प्रभावी साबित होता है, तो वह इसका उपयोग करेंगे।

ये भी देखे:- यदि आप 3 महीने तक खाद्यान्न नहीं लेते हैं, तो आपका Ration Card रद्द हो सकता है

Ashish Tiwari
Ashish Tiwarihttp://ainrajasthan.com
आवाज इंडिया न्यूज चैनल की शुरुआत 14 मई 2018 को श्री आशीष तिवारी द्वारा की गई थी। आवाज इंडिया न्यूज चैनल कम समय में देश में मुकाम हासिल कर चुका है। आज आवाज इन्डिया देश के 14 प्रदेशों में अपने 700 से ज्यादा सदस्यों के साथ बेहद जिम्मेदारी और निष्ठापूर्ण तरीके से कार्यरत है। जिन राज्यों में आवाज इंडिया न्यूज चैनल काम कर रहा है वह इस प्रकार हैं राजस्थान, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, पश्चिमी बंगाल, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्रप्रदेश, केरला, ओड़िशा और तेलंगाना। आवाज इंडिया न्यूज चैनल के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री आशीष तिवारी और डॉयरेक्टर श्रीमति सुरभि तिवारी हैं। श्री आशिष तिवारी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र मे पोस्ट ग्रेजुएशन किया और पिछले 30 साल से न्यूज मीडिया इन्डस्ट्री से जुड़े हुए हैं। इस कार्यकाल में उन्हों ने देश की बड़ी बड़ी न्यूज एजेन्सीज और न्युज चैनल्स के साथ एक प्रभावी सदस्य की हैसियत से काम किया। अपने करियर के इस सफल और अदभुत तजुर्बे के आधार पर उन्होंने आवाज इंडिया न्यूज चैनल की नींव रखी और दो साल के कम समय में ही वह अपने चैनल के लिये न्यूज इन्डस्ट्री में एक अलग मकाम बनाने में कामयाब हुए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments